छत्तीसगढ़

मरीजों की सेवा कर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मनाया दीपक बैज का जन्मदिन

 कांग्रेस असंगठित मजदूर एवं समस्या निवारण प्रकोष्ठ के अध्यक्ष मोहम्मद सिद्दीक के साथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज का जन्मदिन मनाया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने डीकेएस अस्पताल में मरीजों को भोजन एवं फल वितरण किया। इस कार्यक्रम में मनोज यादव, आरती माहुरी, सचिन तिवारी, अशफाक, मोहम्मद वसीम, विजय बघेल, गुलाम अमीर खुसरो, मुनेश गौतम, श्रेयांस शुक्ला, बाबा सहित अन्य कांग्रेस जन मौजूद थे।


मोहम्मद सिद्दीक ने बताया सेवा कांग्रेस पार्टी की पहचान है, इसी भावना के अनुरूप प्रदेश अध्यक्ष दीपक बैज का जन्मदिन को सेवा कर मनाया गया है। सभी कांग्रेस कार्यकर्ता उनके स्वस्थ जीवन व दीर्घायु की कामना करते हैं।

 

 

और भी

सेजेस सारंगढ़ में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया वन महोत्सव

 स्वामी आत्मानंद शासकीय हिंदी माध्यम विद्यालय(सेजेस) सारंगढ़ में शनिवार को बैग-लेश डे के अंतर्गत राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद छत्तीसगढ़ द्वारा निर्धारित वन महोत्सव कार्यक्रम मनाया गया। कार्यक्रम की शुरुआत विद्यालय परिसर में स्थित माँ सरस्वती की मंदिर वाले बगीचे में पौधारोपण करके की गई। पौधारोपण में विद्यालय के शिक्षक व विद्यार्थियों द्वारा " एक पेड़ माँ के नाम " की कड़ी को आगे बढ़ाते हुए पौधारोपण किया गया। 

तत्पश्चात मिडिल स्कूल के प्रधानपाठक राजेश देवांगन द्वारा सालूमरदा थिमक्का जिन्हें वृक्ष माता के नाम से जाना जाता है जिनकी उम्र 112 वर्ष है और वह 8000 से भी अधिक पेड़ लगा चुकी हैं जिसके कारण उन्हें 2019 में पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया है, के बारे में विद्यार्थियों को जानकारी दी गई। कार्यक्रम में विद्यार्थियों के द्वारा भी विभिन्न पेड़-पौधे के बारे में भाषण दिया गया। इस कार्यक्रम में मिडिल स्कूल के समस्त शिक्षक शामिल हुए।

 
और भी

अवैध तस्करी करते 8.040 किलोग्राम गांजा पकड़ा, बाइक जप्त

 आबकारी आयुक्त सह सचिव आर संगीता और कलेक्टर धर्मेश साहू के निर्देश व जिला आबकारी अधिकारी सोनल नेताम के मार्गदर्शन में गत दिवस हरिशंकर साहू पिता रामकृपाल और वाकेश्वर वर्मा पिता शोभित, दोनो निवासी ग्राम मल्दी थाना बिलाईगढ़ को मादक पदार्थ गांजा के अवैध तस्करी करते पकड़ा गया। गांजा के तस्करी के दौरान उपयोग में लाए बाइक को जप्त किया गया।

मुखबिर से मिली सूचना की आबकारी विभाग वृत्त बिलाईगढ़ को सूचना जांच में पुष्टि होने के पश्चात मुखबिर सूचना पंचनामा तैयार किया गया तथा जिला आबकारी अधिकारी को फोन पर इस संबंध में सूचित करते हुए गवाहों को नोटिस देकर आबकारी टीम के साथ बताए गए स्थान पर तत्काल उपस्थित हुए। मल्दी रामपुर मार्ग में एक संदिग्ध दो पहिया वाहन आता दिखा हमारे वाहन को आता देख वाहन चालक द्वारा वाहन को मोड़कर वापस भागने का प्रयास किया, जिसे दौड़ा कर रुकवाया गया एवं गवाहों के समक्ष दोनों संदेहियों से पूछताछ की गई तथा इनके पास में काले रंग के बैग की विधिवत रूप से तलाशी ली गई तलाशी में बैग से कुल 08 नग झिल्ली में अच्छी तरह से भरा पत्ती नुमा बीज युक्त पदार्थ को बरामद किया गया बरामद मादक पदार्थ का मौके पर ही प्राथमिक रूप से जांच करने पर गांजा होना पाया गया l 

स्थानीय तौलक के माध्यम से गांजे का तौल करवाया गया जिसका कुल वजन 8.040 किलोग्राम का होना पाया गया है l बरामद गांजा को समरस किया गया एवं समस्त मात्रा को 02 नग  कपड़े के थैले में भागकर उसे सीलबंद कर विधिवत कब्जा आबकारी लिया गया है l आरोपियों को एनडीपीएस अधिनियम 1985 की धारा 20(B) के उल्लंघल करने के आरोप में  मौके से गिरफ्तार कर उन्हें विशेष न्यायाधीश एन डी पी एस अधिनियम रायगढ़ के समक्ष पेश किया गया l  

इस कार्यवाही में आबकारी उपनिरीक्षक  विपिन कुमार पाठक, आबकारी आरक्षक धनेश्वर राव मगर एवम वाहन चालक रामदुलार पटेल का उल्लेखनीय योगदान रहा। 

 

 

और भी

कानून व्यवस्था को लेकर सजग है सरकार, जल्द पकड़े जाएंगे आरोपी : मुख्यमंत्री साय

  मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने राजधानी में कोयला कारोबारी के कार्यालय पर हुई फायरिंग की घटना पर चिंता जताते हुए कहा कि इस मामले में संलिप्त आरोपियों को जल्द ही पकड़ लिया जाएगा। उन्होंने इस घटना को गंभीरता से लेते हुए कहा कि जिस मुस्तैदी के साथ पिछली बार अमन साहू गैंग के लोगों को पकड़ा गया था, उसी तरह इस बार भी पुलिस आरोपियों को शीघ्र ही गिरफ्तार करेगी।

मुख्यमंत्री साय जशपुर में आयोजित मतदाता अभिनंदन कार्यक्रम के लिए रवाना होने से पहले मीडिया से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा, "आज हमारे विधानसभा क्षेत्र कुनकुरी में मतदाता अभिनंदन कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे हैं।"

अयोध्या यात्रा
मुख्यमंत्री ने अपनी अयोध्या यात्रा के बारे में भी जानकारी दी। शनिवार को मंत्रिमंडल के साथ अयोध्या में रामलला के दर्शन करने गए मुख्यमंत्री ने बताया कि उन्होंने पूरे मंत्रिमंडल के साथ भगवान राम के दर्शन किए और पूजा-अर्चना की। मुख्यमंत्री साय ने कहा, "हमने छत्तीसगढ़ की खुशहाली के लिए प्रार्थना की और हनुमानगढ़ी में भी दर्शन कर पूजा-अर्चना की। इसके अलावा, हमने सरयू नदी में भी पूजा पाठ किया।"

विधानसभा उपचुनाव परिणाम
7 राज्यों में हुए विधानसभा उपचुनाव के परिणामों पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इंडिया ब्लॉक ने 13 में से 10 सीटें जीती हैं, जबकि भाजपा को दो सीटों पर सफलता मिली है। मुख्यमंत्री साय ने कहा, "चुनाव में जनता का निर्णय होता है और भाजपा का प्रदर्शन समीक्षा का विषय है।"

मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने अपने वक्तव्य में स्पष्ट किया कि सरकार कानून व्यवस्था को लेकर सजग है और किसी भी अप्रिय घटना को बर्दाश्त नहीं करेगी। पुलिस प्रशासन पूरी मुस्तैदी के साथ कार्य कर रहा है और दोषियों को शीघ्र न्याय के कटघरे में खड़ा किया जाएगा।

और भी

स्वास्थ्य मंत्री जायसवाल का बीजापुर दौरा सोमवार को

 स्वास्थ्य मंत्री श्याम बिहारी जायसवाल सोमवार  को बीजापुर जिले के दौरे पर रहेंगे। स्वास्थ्य मंत्री प्रदेश के सुदूर  और संवेदनशील जिले में पूरा दिन व्यतीत करेंगे जिसके अन्तर्गत जिले के स्वास्थ्य सुविधाओं की स्थिति तथा मौसमी एवं जलजनित बीमारियों से निपटने के लिए व्यापक तैयारियों का जायज़ा लेंगे।

मंत्री जायसवाल इस दौरान  जिला अस्पताल का दौरा भी करेंगे और समीपवर्ती पोटा केबिन छात्रावास का भी निरीक्षण करेंगे। गौरतलब है कि पोटा केबिन में कुछ छात्र मलेरिया से पीड़ित हैं। इसके बाद स्वास्थ्य मंत्री ज़िला पंचायत सभागार बीजापुर में बस्तर संभाग के सभी ज़िलों के स्वास्थ्य प्रमुखों (सीएमएचओ, सीएस, डीपीएम) की बैठक भी लेंगे। ज़िला प्रमुखों द्वारा वर्षाऋतु की बीमारियों की रोकथाम के संबंध में विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत की जायेगी। मंत्री जायसवाल के साथ पूर्व मंत्री महेश गागडा,अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य मनोज पिंगुआ एवं स्वास्थ्य संचालक ऋतुराज रघुवंशी भी रहेंगे।

और भी

बृजमोहन ने मतदाता अभिनंदन व आभार सम्मेलन के जरिये जताया आभार

  रायपुर के नवनिर्वाचित सांसद बृजमोहन अग्रवाल रविवार को भाटापारा और बलौदा बाजार में मतदाता अभिनंदन एवं आभार सम्मेलन के जरिए क्षेत्र वासियों और पार्टी कार्यकर्ताओं का आभार व्यक्त किया।


अपने संबोधन में बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि, पार्टी के समर्पित कार्यकर्ताओं और क्षेत्र की जनता के प्यार और स्नेह का ही परिणाम है कि, लोकसभा चुनाव में रायपुर में भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर से प्रचंड जीत हासिल की है और देश में राजधानी का नाम रौशन किया है। जिसके लिए मैं क्षेत्रवासियों, पार्टी कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों और शुभ चिंतकों के अथक प्रयासों को नमन करते हुए हृदय से आभार व्यक्त करता हूं।



उन्होंने यह भी कहा कि, क्षेत्र की जनता ने मुझ पर भरोसा जताया है और मैं इस भरोसे को टूटने नहीं दूंगा, भाटापारा और बलौदा बाजार के विकास के लिए हर संभव प्रयास करूंगा।



सांसद अग्रवाल ने पार्टी कार्यकर्ताओं को आगामी नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव के लिए अभी से तैयारी शुरू करने के निर्देश दिए। जिससे जीत का सिलसिला लगातार चलता रहे। जिसके लिए कार्यकर्ताओं को जनता के बीच में जाकर उन्हें भाजपा सरकार द्वारा किए गए कार्यों और प्रस्तावित कार्य योजनाओं की जानकारी देनी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने गरीबों के लिए 18 लाख आवास को हरी झंडी दे दी है जिसका लाभ सभी वर्गों को मिलेगा। कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव में दुष्प्रचार किया था कि, भारतीय जनता पार्टी की सरकार आने पर संविधान को बदल दिया जाएगा। साथ ही उन्होंने महिलाओं को साल का एक लाख रुपए देने का झूठा वादा किया था। अब यह भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी है कि वह कांग्रेस के झूठे वादों और दुष्प्रचार की पोल खोलें और भाजपा के कार्यों को जनता के सामने रखें।



कार्यक्रम में मंत्री टंक राम वर्मा , मंत्री श्याम बिहारी जायसवाल, पूर्व विधायक शिव रतन शर्मा, अशोक बजाज, श्रीमती लक्ष्मी साहू, सनम जांगड़े, करन कश्यप समेत बड़ी संख्या में पार्टी पदाधिकारी और वरिष्ठ जन उपस्थित रहे।



कृषि महाविद्यालय और वन विभाग को भाटापारा में एक लाख पौधे लगाने के निर्देश दिए
बृजमोहन अग्रवाल ने इस अवसर पर कृषि महाविद्यालय भाटापारा और शासकीय कन्या उच्च माध्यमिक विद्यालय बलौदा बाजार में "एक पेड़ मां के नाम" अभियान के तहत अपनी माता जी की स्मृति में पौधारोपण भी किया। बृजमोहन अग्रवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के "एक पेड़ मां के नाम" अभियान में तेजी लाने के लिए कृषि महाविद्यालय और वन विभाग को भाटापारा में एक लाख पौधे लगाने के निर्देश दिए हैं।

 

 

 
और भी

शुभ घड़ी आई, साय कैबिनेट ने अयोध्या धाम में किए श्रीरामलला के दर्शन

अयोध्या धाम में पवित्र राम जन्मभूमि में श्री रामलला के दर्शन के लिए जैसे ही मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय और उनके कैबिनेट के सहयोगी पहुंचे। पूरे मंदिर परिसर में नारा गूंज उठा। छत्तीसगढ़ के भांचा राम, जय श्री राम, जय श्री राम। इस तरह पूरा परिसर राम भक्ति  के माहौल में, ननिहाल से आए भक्तों की स्नेह सिक्त वाणी से गुंजायमान हो गया। जिस तरह माता शबरी की शिवरीनारायण में भगवान श्री राम के पुण्य दर्शन की इच्छा पूरी हुई थी। वही साध ननिहाल के हर राम भक्त को होती है। उसी तरह मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय और उनकी कैबिनेट की भी रामलला के दर्शन की इच्छा आज पूरी हो गई। मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय सहित उनके कैबिनेट के सदस्यों ने आज अयोध्या धाम पहुंचकर श्रीरामलला के दर्शन किए। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर भाँचा राम के ननिहाल का उपहार भी प्रभु के चरणों में अर्पित किया। उन्होंने छत्तीसगढ़ से शबरी माता की भूमि शिवरीनारायण से बेर तथा पवित्र जल, विष्णु भोग का चावल, अनारसा, करी लड्डू तथा कोसे के वस्त्र प्रभु को अर्पित किए।

मुख्यमंत्री श्री साय ने इस अवसर पर प्रभु श्री राम से छत्तीसगढ़ के लोगों की सुख समृद्धि की कामना की। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हम लोग पूरी कैबिनेट के साथ श्री रामलला के दर्शन के लिए आज अयोध्या धाम आए। भगवान श्रीराम हमारे छत्तीसगढ़ के भांजे हैं। भांचा राम के दर्शन के लिए हम लोग बहुत उत्सुक थे। भगवान श्रीराम के आशीर्वाद से वो शुभ घड़ी आ गई है जब हम लोगों को अयोध्या धाम में रामलला के दर्शन का सौभाग्य मिला।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जब हमने अयोध्या धाम जाने का निर्णय लिया तो सोचा कि जब अपने भांजे के दर्शन के लिए जाएंगे तो उनके लिए ननिहाल की तरफ से क्या उपहार लेकर जाएं।
फिर विचार आया कि इससे अच्छा उपहार भगवान श्रीराम के लिए क्या हो सकता है कि हम उस पवित्र भूमि शिवरीनारायण से बेर ले जाकर भगवान को भेंट करें, जहां के बेर खुद माता शबरी ने प्रभु श्रीराम को अपने हाथों से खिलाये थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उन जूठे बेरों का स्मरण हमेशा के लिए लोक स्मृति में दर्ज हो गया है। माता शबरी की इस धरती से भगवान श्रीराम के लिए यह उपहार ले जाने का हमें सौभाग्य मिला इससे बढ़कर हमें क्या चाहिए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ जनजातीय प्रदेश है। यहां माता शबरी और अनेक जनजातीय विभूतियों ने भगवान श्रीराम का स्वागत किया है।  हमारी यह धरती धन्य है। यह अद्भुत संयोग है कि छत्तीसगढ़ भगवान श्रीराम का ननिहाल भी है और यह उनके वन गमन पथ का हिस्सा भी है। रामकथा से जुड़े विद्वान बताते हैं कि श्रीराम ने अपने वनवास के चौदह वर्षों में दस वर्ष यहीं गुजारे।
उन्होंने रामायण के प्रसंगों से भी अपनी बात बताई। मुख्यमंत्री ने कहा कि रामायण के प्रसंग जनजातीय लोगों से श्रीराम के अद्भुत स्नेह तथा प्रभु श्रीराम के जनजातीय लोगों से अपार प्रेम की कहानी कहते हैं।
उन्होंने कहा कि मेरा सौभाग्य है कि प्रदेश के मुखिया के रूप में अयोध्या पहुंच कर छत्तीसगढ़ के लोगों के अपने आराध्य के प्रति अगाध स्नेह और भक्ति व्यक्त करने का माध्यम बना हूँ।
रामलला के दर्शनों से अभिभूत मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रीराम ने हमें रामराज्य का आदर्श दिया है। छत्तीसगढ़ में रामराज्य के आदर्श को लेकर हम चल रहे हैं। श्रीरामलला का दर्शन कर हमने प्रभु से अपने प्रदेश के सुख-समृद्धि की कामना की  है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अयोध्या धाम श्रीरामलला दर्शन योजना के माध्यम से हमारे प्रदेश के बहुत से श्रद्धालु श्रीरामलला के दर्शन का पुण्य लाभ ले चुके हैं। उन सबसे श्रीरामलला के भव्य मंदिर और उनकी मंजुल मूर्ति की प्रशंसा सुनकर मन बहुत प्रसन्न होता था। आज हमें भी रामलला के दर्शन का सौभाग्य मिल गया।
इस मौके पर मुख्यमंत्री के कैबिनेट के सहयोगी उपमुख्यमंत्री  श्री  अरुण साव, श्री विजय शर्मा, कृषि मंत्री श्री राम विचार नेताम, वन मंत्री श्री केदार कश्यप, खाद्य मंत्री श्री दयाल दास बघेल, स्वास्थ्य मंत्री श्री श्याम बिहारी जायसवाल, वित्त मंत्री श्री ओपी चौधरी, श्रम मंत्री श्री लखन लाल देवांगन, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती लक्ष्मी राजवाड़े, खेल मंत्री श्री टंक राम वर्मा भी मौजूद रहे। इसके साथ ही श्री किरण देव, श्री अजय जामवाल एवं श्री पवन साय भी मौजूद रहे।
और भी

उद्यानिकी फसलों में मौसम आधारित फसल बीमा कराने की अवधि 31 जुलाई 2024 तक

  राज्य शासन कृषि एवं जैव प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा उद्यानिकी फसलों में मौसम आधारित फसल बीमा कराने हेतु खरीफ मौसम में 31 जुलाई 2024 तक का समय तय किया गया है। उद्यानिकी फसलों की खेती कर रहे किसानों को अधिसूचित क्षेत्र के आधार पर 1. तापमान (कम, अधिक) 2. वर्षा (कम, अधिक बेमौसम वर्षा) 3. वायु गति 4. कीट एवं व्याधि प्रकोप के अनुकूल मौसम एवं स्थानीय आपदा एवं फसल विशेष के आधार पर 1. ओलावृष्टि खरीफ मौसम हेतु अधिसूचित फसलें मिर्च, केला एवं पपीता 2. चक्रवाती हवाएं खरीफ मौसम हेतु अधिसूचित फसलें केला एवं पपीता को होने वाले नुकसान से बचाने के लिये पुर्नगठित मौसम आधारित फसल बीमा योजना लागू की गई है। खरीफ वर्ष 2024 में जिले के अंतर्गत बीमा कराने वाले कृषकों को अधिसूचित फसल के अनुसार निर्धारित कुल बीमित राशि का अधिकतम 5 प्रतिशत अथवा वास्तविक प्रीमियम जो भी कम हो राशि कृषक अंश के रूप में ऋणी एवं अऋणी दोनों प्रकार के कृषकों को जमा करने होंगे। अऋणी कृषक फसल लगाने का स्व घोषित प्रमाण पत्र, नक्शा खसरा, आधार कार्ड, अपने बैंक पासबुक छायाप्रति जिसमें आईएफएससी कोड इत्यादि का उल्लेख हो, जमा कर बीमा करा सकते हैं। योजना के अंतर्गत ऋणी कृषकों के लिये विकल्प चयन के आधार पर क्रियान्वित होगी। ऋणी कृषक जो योजना में शामिल नहीं होना चाहते हैं उन्हें भारत सरकार द्वारा जारी चयन प्रपत्रानुसार हस्ताक्षरित घोषणा पत्र बीमा आवेदन की अंतिम तिथि के 7 दिवस पूर्व तक संबंधित वित्तीय संस्थान में अनिवार्य रूप से जमा करना होगा। निर्धारित समय सीमा में हस्ताक्षरित घोषणा पत्र जमा नहीं करने पर संबंधित बैंक द्वारा संबंधित मौसम के लिए स्वीकृति व नवीनीकृत की गई अल्पकालीन कृषि ऋण को अनिवार्य रूप से बीमाकृत किया जावेगा। इस मामले में किसी भी प्रकार की त्रुटि संबंधित बैंक किसानों के स्वीकार दावों के भुगतान के लिये उत्तरदायी होगा।

बीमा के दायरे में आयेंगी ये फसलें खरीफ मौसम हेतु फसल बीमा के लिये टमाटर, बैंगन, मिर्च, अदरक, केला, पपीता और अमरूद की फसलें अधिग्रहित की गई है। बीमा कराने हेतु अधिकृत संस्थाएँ हैं च्वाइस सेंटर, भारतीय कृषि बीमा कम्पनी के प्रतिनिधि, लोक सेवा केन्द्र, बैंक शाखा, सहकारी समिति तथा विकासखण्ड में स्थापित शासकीय उद्यान रोपणी कमशः शासकीय उद्यान रोपणी, पड़कीडीह, बेमेतरा (मोबा. नं. 78282-81733) शासकीय उद्यान रोपणी, मोहगाव, साजा (मोबा. नं. 98935-02037) शासकीय उद्यान रोपणी, नेवनारा, बेरला (मोबा. नं. 99771-36115) शासकीय उद्यान रोपणी, झिलगा, नवागढ़ (मोबा. नं. 78287-24673) से भी संपर्क किया जा सकता है।

और भी

राष्ट्रीय जुडो चौम्पियनशीप प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली हेमबती नाग का कलेक्टर ने किया सम्मान

 गुरूवार को कलेक्टर कुणाल दुदावत के द्वारा 6 जनवरी से 11 जनवरी 2024 तक चल रहे पंजाब लुधियाना में आयोजित राष्ट्रीय जूडो प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर कांस्य पदक के साथ 10 हजार का चैक प्राप्त करने वाली स्वामी आत्मानंद हिंदी मीडियम स्कूल तहसीलपारा कोण्डागांव की कक्षा 10वीं की छात्रा हेमबती का सम्मान किया। उन्होंने हेमबती नाग को बधाई देते हुए उनके उज्वल भविष्य की शुभाकामनाएं दी। इस अवसर पर जिला मिशन समन्वयक महेन्द्र पाण्डे, खेल अधिकारी सुदराम मरकाम, प्राचार्य पीएस डेनियल उपस्थित थे।

 


और भी

बच्चों से लेकर वृद्धजनों ने अपनी मां के नाम से एक पेड़ लगाया, ली सुरक्षा की जिम्मेदारी

 प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री छ.ग. शासन के अहवान पर  एक पेड़ मां के नाम महावृक्षारोपण अभियान का आयोजन विगत दिवस जशपुर वनमण्डल अंतर्गत जिले के सभी परिक्षेत्रों में किया गया। जिसके तहत् जिले में 51000 पौधों का रोपण किया गया है। इस अभियान में जिले के समस्त परिक्षेत्रो के विभिन्न पंचायतो में, शैक्षणिक संस्थान अंगानबाड़ी से लेकर महाविद्यालयों के प्रांगण में तथा देव सरना स्थलों, पुलिस थाना, गोठान, पंचायत भवनों एवं विभिन्न वन क्षेत्र में उस क्षेत्र के जनप्रतिनिधि, विद्यालयों के प्रचार्य, वन प्रबंधन समिति अध्यक्ष, थाना , चौकी के प्रभारीयों की गरिमा मय उपस्थिति में जनमानस के सहयोग से भिन्न-भिन्न प्रजाति के पौधों को रोपण वृहद् स्तर पर किया गया। जिसमें छोटे बच्चों से लेकर वृद्धजनों ने अपनी मां के नाम से एक पेड़ लगाया एवं सुरक्षा की जिम्मेदारी ली।

 

 

और भी

कलेक्टर ने प्रधानमंत्री मातृ वंदना एवं महतारी वंदन योजना के बेहतर क्रियान्वयन के दिए निर्देश

 कलेक्टर नीलेश कुमार क्षीरसागर ने जिला कार्यालय के सभाकक्ष में महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर विभागीय योजनाओं के कार्यां की प्रगति की समीक्षा की। कलेक्टर ने बैठक में कहा कि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना एवं महतारी वंदन योजना शासन की प्रमुख फ्लेगशिप योजनाएं हैं। इसके बेहतर क्रियान्वयन के लिए विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी अच्छे से कार्य करें और जिले के सभी पात्र हितग्राहियों को लाभान्वित करें। उन्होंने कहा कि जिले के दूरस्थ एवं आदिवासी अंचलों में कुपोषण बड़ी समस्या है। इसे दूर करने के लिए योजनाओं के तहत गर्भवती महिलाओं एवं बच्चों को नियमित रूप से पूरक पोषण आहार मिले, यह सुनिश्चित करें।

कलेक्टर ने बैठक में विभाग द्वारा संचालित आंगनबाड़ी केन्द्रों के भवनों की उपलब्धता एवं स्थिति की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जर्जर भवनों में किसी भी प्रकार की गतिविधियां संचालित न करें और जिले के ऐसे जर्जर एवं अति जर्जर भवनों के मरम्मत व नये भवन के लिए प्रस्ताव तैयार कर भेंजे। साथ ही उन्होंने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं के रिक्त पदों की पूर्ति के लिए भी भर्ती प्रक्रिया को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने पोषण ट्रेकर एप में हितग्राहियों के आधार सत्यापन कार्य में तेजी लाने भी कहा। बैठक में उन्होंने प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, महतारी वंदन योजना, महिला कोष ऋण योजना एवं सक्षम योजना, मुख्यमंत्री बाल संदर्भ योजना सहित अन्य योजनाओं तथा सक्षम आंगनबाड़ी के तहत कार्य की प्रगति की परियोजनावार समीक्षा की। इस अवसर पर जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग रमाकांत चन्द्राकर सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

और भी

प्रधानमंत्री के 15 सूत्रीय कार्यक्रम के क्रियान्वयन और अल्पसंख्यकों को योजनाओं का लाभ दिलाने पर हुई चर्चा

 जिला स्तरीय अल्पसंख्यक कल्याण समिति की बैठक जिला कार्यालय के सभाकक्ष में संपन्न हुई, जिसमें एडीएम  एस. अहिरवार ने अल्पसंख्यकों के लिए संचालित विभिन्न शासकीय योजनाओं के कार्यों की प्रगति की विभागवार जानकारी ली और संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

बैठक की शुरूआत में सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग एल.आर. कुर्रे ने समिति की पूर्व बैठक के विभागवार पालन प्रतिवेदन की जानकारी दी। बैठक में एडीएम ने शिक्षा विभाग को उर्दू शिक्षकों की भर्ती, उर्दू पुस्तकों की उपलब्धता और मदरसे के आधुनिकीकरण हेतु प्रस्ताव तैयार करने के संबंध में आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए। साथ ही अंत्यावसायी एवं कौशल विकास के तहत् प्रशिक्षण तथा रोजगार उपलब्ध कराने, पशु पालन के कार्य स्वीकृत करने संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया। इसके साथ ही प्रधानमंत्री के नवीन 15 सूत्रीय कार्यक्रम पर भी विस्तृत चर्चा की गई, जिसमें एकीकृत बाल विकास सेवाओं की समुचित उपलब्धता, विद्यालयीन शिक्षा की उपलब्धता को सुधारना, उर्दू शिक्षण के लिये अधिक संसाधन, मदरसा शिक्षा आधुनिकीकरण, मेधावी विद्यार्थियों के लिये छात्रवृत्ति, मौलाना आजाद शिक्षा प्रतिष्ठान के माध्यम से शैक्षणिक अधोसंरचना को उन्नत करना, गरीबों के लिये स्व-रोजगार एवं मजदूरी रोजगार योजना, तकनीकी शिक्षा के माध्यम से कौशल उन्नयन, आर्थिक क्रियाकलापों के लिये ऋण सहायता, राज्य एवं केन्द्रीय सेवाओं में भर्ती, मलिन बस्तियों की स्थिति में सुधार और ग्रामीण आवास योजना में उचित हिस्सेदारी सुनिश्चित कराने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया। बैठक में समिति के सदस्यों ने भी अपनी मांग एवं समस्याएं रखीं और आवश्यक सुझाव भी दिए। इस अवसर पर समिति के सदस्यगण एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

 

 

और भी

माता शबरी की पवित्र धरती शिवरीनारायण के बेर लेकर रामलला के दर्शन करने अयोध्या जाएंगे मुख्यमंत्री विष्णु देव साय

 मुख्यमंत्री विष्णु देव साय और उनके कैबिनेट के सहयोगी श्रीरामलला के दर्शन करने शनिवार को अयोध्याधाम जाएंगे। मुख्यमंत्री इस अवसर पर माता शबरी की पवित्र धरती शिवरीनारायण से बेर फल की टोकरी भी उपहार स्वरूप रामलला को भेंट करेंगे। इसके साथ ही मुख्यमंत्री  साय विष्णुभोग चावल, कोसा वस्त्र, कारी लड्डू, अनरसा और सीताफल सहित अन्य सामग्री भी रामलला को भेंट करेंगे।

उल्लेखनीय है कि प्रभु श्रीराम ने शिवरीनारायण में ही माता शबरी के जूठे बेर खाये थे। यह ननिहाल से अपने भांचा राम को भेंट होगी। उल्लेखनीय है कि प्रभु श्रीराम का छत्तीसगढ़ के जनजातीय लोगों से गहरा स्नेह था। माता शबरी के जूठे बेर की कहानी रामायण की सबसे मर्मस्पर्शी कहानियों में से एक है। 

मुख्यमंत्री अपने कैबिनेट के साथ प्रभु श्रीराम के दर्शन करेंगे और प्रदेशवासियों की सुख समृद्धि की कामना करेंगे। उल्लेखनीय है कि अयोध्या धाम में श्रीरामलला के दर्शन के लिए प्रदेश के श्रद्धालुओं हेतु अयोध्याधाम श्रीरामलला दर्शन योजना भी संचालित की जा रही है जिससे हजारों श्रद्धालु रामलला के दर्शन कर चुके हैं। योजना के शुभारंभ के समय मुख्यमंत्री ने कहा था कि शीघ्र ही वे कैबिनेट के साथ अयोध्या धाम में रामलला के दर्शन का सौभाग्य प्राप्त करने जाएंगे।
और भी

जब मितानिन दीदियों के साथ पंगत में बैठकर मुख्यमंत्री ने किया भोजन

राजधानी रायपुर में मितानिन दीदियों को प्रोत्साहन राशि वितरण के लिए आयोजित ‘नवा सौगात‘ कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री  विष्णु देव साय ने मितानिन बहनों के साथ दोपहर का भोजन किया।

मुख्यमंत्री साय पंगत में बस्तर दरभा से आयी मितानिन दीदियों जयमनी नाग और कवर्धा की बैगा जनजाति की दसनी बाई के साथ भोजन करने बैठे। भोजन में दही मिर्ची, लाई बड़ी, बिजौरी, चावल पापड़, चना, लाल भाजी, जिमीकांदा, मुनगा की सब्जी, इडहर कड़ी, भरवा करेला, चावल, कोदो चावल, रोटी, मीठे में रागी लड्डू, अंदरसा, गुलगुला, पीड़िया, मठ्ठा आदि परोसा गया। भोजन के प्रारंभ में फ्रूट सलाद भी सर्व किया गया। 

मुख्यमंत्री ने मितानिन दीदियों के साथ बड़े चाव के साथ भोजन किया। इस दौरान उन्होंने जयमनी नाग और दसनी बाई से बड़ी ही आत्मीयता के साथ उनका कुशल क्षेम पूछा और कहा कि अब उनके बैंक खाते में हर महीने प्रोत्साहन राशि सीधे मिल जाया करेगी। मुख्यमंत्री ने जयमनी नाग से बातचीत के दौरान कहा कि बस्तर तो कई बार गया हूं, लेकिन चापड़ा चटनी का स्वाद चखने का मौका नहीं मिला। जयमनी नाग ने कहा कि अब जब बस्तर आएं तो खट्टी-चटपटी चापड़ा चटनी का स्वाद अवश्य चखें। 

मितानिन बहनों के साथ उपमुख्यमंत्री अरुण साव, स्वास्थ्य मंत्री  श्याम बिहारी जायसवाल, वन एवं संसदीय कार्य मंत्री केदार कश्यप, विधायक  अनुज शर्मा, विधायक  गुरु खुशवंत साहब स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव  मनोज कुमार पिंगुआ ने भोजन किया।
और भी

मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने रिमोट बटन दबाकर मितानिनों के खाते में 90 करोड़ 8 लाख 84 हजार 20 रुपए का किया अंतरण

 
मुख्यमंत्री  विष्णुदेव साय ने विकसित छत्तीसगढ़ की संकल्पना पर काम करना शुरू कर दिया है और इसकी शुरूआत स्वस्थ छत्तीसगढ़ की बात के साथ की है। मुख्यमंत्री  साय ने आज राजधानी रायपुर के दीनदयाल उपाध्याय आडिटोरियम में राज्य भर से आई हुई हजारों मितानिन बहनों के सामने कहा कि उनकी सरकार पूरी पारदर्शिता के साथ काम कर रही है और वो राज्य मे सुशासन की राह पर आगे बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि उनके इस सफर में राज्य भर में काम कर रही लगभग 72 हजार मितानिन बहनों का भी अमूल्य योगदान है जिनके दम पर राज्य मातृ मृत्यु दर और शिशु मृत्यु दर में अभूतपूर्व सुधार हासिल करने मे कामयाब हुआ है।

इस मौके पर मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय ने मितानिन बहनों को नवा सौगात देते हुए उन्हें हर माह उनके प्रोत्साहन राशि को सीधे बैंक खाते में ट्रांसफर करने की शुरूआत की। मुख्यमंत्री ने रिमोट का बटन दबाकर राज्य स्तर से मितानिन प्रोत्साहन राशि का सीधे बैंक खाते में अंतरण किया। इस अंतरण से राज्य भर की मितानिन  बहनों के खाते में 90 करोड़ 8 लाख 84 हजार 20 रुपए का अंतरण हुआ। इस राशि में केंद्र एवं राज्य के अंश के साथ ही मितानिन प्रोत्साहन राशि भी शामिल है। ये राशि 69 हजार 607 मितानिन बहनें, 3 हजार 448 मितानिन प्रशिक्षक, 289 ब्लॉक समन्वयक, 176 स्वास्थ्य पंचायत समन्वयक, 26 शहरी क्षेत्र समन्यवक एवं 285 मितानिन हेल्प डेस्क समन्वयक को राज्य स्तर से एक साथ भुगतान की गई।

मुख्यमंत्री ने मितानिन बहनो को संबोधित करते हुए कहा कि पहले उन्हें कई चरणों में अटक अटक कर राशि मिलती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा और हर महीने सांय सांय उनके खाते में पैसे आएंगे। उन्होंने कहा कि मितानिन बहनें छत्तीसगढ़ की स्वास्थ्य व्यवस्था का आधार हैं जो सुदूर क्षेत्रों में जाकर भी इमानदारी से काम करती हैं। 

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे स्वास्थ्य मंत्री श्याम बिहारी जायसवाल ने मितानिन बहनों के लगन और समर्पण के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मितानिन राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था की रीढ़ की हड्डी हैं जिन्होंने ग्रामीण अंचलों के अंतिम छोर तक स्वास्थ्य की बागडोर संभाल रखी है। उन्होंने कहा कि पहले भी मितानिनों को बैंक में राशि दी जाती थी, लेकिन ये राशि ब्लाक स्तर अनियमित अंतराल पर आती थी और उसमें केंद्र, राज्य तथा स्वयं के अंश की जानकारी नहीं होती थी। नई व्यवस्था में मितानिन बहनों को प्रतिमाह राशि उनके बैंक खाते में मिलेगी जिसमें उनके केंद्र, राज्य और स्वयं के प्रोत्साहन राशि की जानकारी भी मितानिन पासबुक के माध्यम से मिलेगी। जायसवाल ने कहा कि मितानिन बहनों की मेहनत के कारण ही छत्तीसगढ़ मे संस्थागत प्रसव की दर लगातार बढ़ रही है और लोगों में जागरुकता फैल रही है, उन्होंने कहा कि मितानिन बहनों के कारण पूरे देश में स्वास्थ्य के क्षेत्र मे छत्तीसगढ़ का नाम रोशन हो रहा है।

इस मौके पर मुख्यमंत्री  विष्णुदेव साय ने राज्य के विभिन्न हिस्सों से आई हुई मितानिन बहनों से बात भी की और उन्हें मितानिन पासबुक देकर शाल एवं श्री फल से सम्मानित भी किया। कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री  अरूण साव, उप मुख्यमंत्री विजय शर्मा, वन मंत्री  केदार कश्यप, विधायक अनुज शर्मा, विधायक गुरू खुशवंत साहेब, विधायक  इंद्र कुमार साहू, स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री मनोज कुमार पिंगुआ समेत स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारी तथा बड़ी संख्या में मितानिन कार्यकर्ता उपस्थित थीं।
और भी

16-17 को रद्द रहेगी बेतवा एक्सप्रेस

  उत्तर मध्य रेलवे के झांसी रेल मंडल के अंतर्गत रगौल-भरवां सुमेरपुर-यमुना साउथ बैंक लाइन दोहरीकरण के लिए खरियार-भीमसेन रेलखंड में 17 जुलाई को नॉन-इंटरलाकिंग किया जा रहा है। इसके चलते 16 जुलाई को गाड़ी संख्या 18203 दुर्ग-कानपुर, बेतवा एक्सप्रेस और 17 जुलाई को गाड़ी संख्या 18204 कानपुर-दुर्ग, बेतवा एक्सप्रेस रद्द रहेगी।

 

 

और भी

श्रमिकों के समस्याओं के समाधान के लिए मोबाईल कैम्प का आयोजन

 कलेक्टर संजय अग्रवाल के मार्गदर्शन में श्रमिकों के समस्याओं के समाधान के लिए ग्राम पंचायतों में मोबाईल कैम्प का आयोजन किया जा रहा है। कलेक्टर ने शासन द्वारा श्रमिकों के कल्याण के लिए संचालित विभिन्न योजनाओं का लाभ लेने के लिए जिले के श्रमिकों को मोबाईल कैम्प के माध्यम से पंजीयन हेतु आवेदन करने एवं योजनाओं की जानकारी प्राप्त करने का आग्रह किया है।

श्रम पदाधिकारी ने बताया कि मोबाईल कैम्प के माध्यम से श्रमिक पंजीयन, नवीनीकरण, संशोधन एवं शासन द्वारा श्रमिकों के लिए संचालित कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी जा रही है तथा निर्माण श्रमिकों व असंगठित कर्मकारों का पात्रतानुसार पंजीयन हेतु ऑनलाईन आवेदन किया जा रहा है। साथ ही मोबाईल कैम्प के माध्यम से आवेदनों तथा पंजीयनों में आ रही समस्याओं का निराकरण भी किया जा रहा है। श्रम पदाधिकारी ने बताया कि श्रमिक वर्ग पंजीयन एवं विभिन्न योजनाओं का लाभ लेने के लिए जनपद पंचायतों में संचालित श्रम कल्याण केन्द्र, श्रमेव जयते मोबाईल एप, लोकसेवा केन्द्र एवं इंटरनेट-कैफे के माध्यम से आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री सहायता केन्द्र के हेल्प लाईन नंबर  (टोल फ्री नंबर) 0771-3505050 पर संपर्क कर श्रमिक पंजीयन एवं योजनाओं की जानकरी प्राप्त की जा सकती है। पदाधिकारी ने बताया कि जुलाई माह में जिले के विभिन्न ग्राम पंचायतों में मोबाईल कैम्प का आयेाजन किया जा रहा है, जहां श्रमिक पंजीयन एवं योजनाओं की जानकारी प्राप्त कर आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं। 12 जुलाई को डोंगरगढ़ विकासखंड के ग्राम रामपुर-रानीतालाब, डोंगरगांव विकासखंड के ग्राम बीजाभांठा एवं छुरिया विकासखंड के ग्राम भंडारपुर में मोबाईल कैम्प का आयोजन किया जाएगा।

इसी तरह 16 जुलाई को डोंगरगढ़ विकासखंड के ग्राम चैतुखपरी-केसली, गरगांव विकासखंड के ग्राम मोखली एवं छुरिया विकासखंड के ग्राम खोभा, 18 जुलाई को डोंगरगढ़ विकासखंड के ग्राम सेम्हरा-गातापारखुर्द, डोंगरगांव विकासखंड के ग्राम धौराभांठा एवं छुरिया विकासखंड के ग्राम घुपसाल, 20 जुलाई को डोंगरगढ़ विकासखंड के ग्राम माड़ीतराई-लमानीभाठा, डोंगरगांव विकासखंड के ग्राम सिंगारपुर एवं छुरिया विकासखंड के ग्राम बूचाटोला, 23 जुलाई को डोंगरगढ़ विकासखंड के ग्राम सहसपुर-जारवाही, डोंगरगांव विकासखंड के ग्राम किरगी एवं छुरिया विकासखंड के ग्राम पाटेकोहरा, 26 जुलाई को डोंगरगढ़ विकासखंड के ग्राम बोड़तलाब-छिंदीजोब, कोहापानी व कुरेझर, डोंगरगांव विकासखंड के ग्राम कोपेडीह एवं छुरिया विकासखंड के ग्राम गहिराभेड़ी, 30 जुलाई को डोंगरगढ़ विकासखंड के ग्राम सेन्दरी-भेलवाटोला, डोंगरगांव विकासखंड के ग्राम कोहका एवं छुरिया विकासखंड के ग्राम पांडेटोला में मोबाईल कैम्प का आयोजन किया जाएगा।

राजनांदगांव विकासख्ंाड अंतर्गत 13 जुलाई को एफसीआई गोदाम के पास (सीटी सेंटर प्रोजेक्ट), 15 जुलाई को ग्राम भर्रेगांव, 17 जुलाई को डी मार्ट के पास चैतन्य स्कूल बिल्डिंग निर्माण कार्य, 20 जुलाई को ग्राम खैरझिटी, 22 जुलाई को ग्राम धौराभांठा, 24 जुलाई को पेण्ड्री 50 बिस्तर वाले बच्चों का अस्पताल निर्माण कार्य, 26 जुलाई को ग्राम धर्मापुर, 29 जुलाई को चिखली पायोनियर होम्स निर्माण कार्य (सिंघानिया फार्म) संजीवनी अस्पताल के बाजू एवं 31 जुलाई को ग्राम जंगलेसर में मोबाईल कैम्प का आयोजन किया जाएगा।

 

 

और भी

एक पेड़ मां के नाम अभियान में सांसद-कलेक्टर ने किया पौधरोपण

 आंगनबाड़ी केंद्र बंगालीपारा में शुक्रवार को “जल शक्ति से नारी शक्ति“ अभियान के तहत जल संरक्षण विषय पर जन जागरूकता कार्यकम का आयोजन किया। इसी के साथ शासन के “एक पेड़ मां के नाम“ अभियान के तहत वृक्षारोपण कर सुरक्षा की जिम्मेदारी भी ली गई। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में सरगुजा लोकसभा के सांसद चिंतामणी महाराज उपस्थित रहे। इस दौरान कलेक्टर विलास भोसकर, विभागीय अधिकारी-कर्मचारी, स्थानीय जनप्रतिनिधि, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाएं सहित बड़ी संख्या में महिलाएं उपस्थित रहीं।


इस अवसर पर मुख्य अतिथि चिंतामणी महाराज ने कहा कि जल ही जीवन है, यदि जल नहीं रहेगा तो जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती। इसलिए पानी का संरक्षण करना बहुत आवश्यक है, इसलिए इस कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने उपस्थित महिलाओं से भविष्य के लिए पानी बचाने अपील की और कहा कि घरों में साफ-सफाई, कपड़े बर्तन आदि धोने जैसे घरेलू कामों के बाद बचे पानी को फेंकने के बजाए गड्ढे में डाल दें, जिससे यह पानी वापस भूमि में जाकर भविष्य के लिए संरक्षित हो जाए। उन्होंने महतारी वंदन योजना के द्वारा प्रदान की गई राशि का उचित उपयोग करने कहा। कलेक्टर विलास भोसकर ने भी जल के महत्व को बताकर जल संरक्षण करने लोगों को प्रेरित किया। वहीं उन्होंने महतारी वंदन योजना के तहत प्राप्त राशि का उचित उपयोग जैसे स्वयं एवं शिशु के स्वास्थ्य, पोषण आदि पर करने प्रेरित किया। कार्यक्रम में उपस्थित महिलाओं को जल संरक्षण विषय अंतर्गत जल का महत्व, साफ और सुरक्षित जल का उपयोग, जल के संरक्षण के सही उपाय, जल संग्रहण की उपयोगी तकनीकों, जल स्त्रोतों के आस-पास साफ-सफाई एवं स्वच्छता का महत्व, साफ-सुथरा शौचालय के उपयोग के महत्व की जानकारी दी गई। साथ ही कार्यक्रम में पौधारोपण से जल संरक्षण के सम्बन्ध में भी जानकारी देते हुए लोगों को जागरूक किया गया।

“एक पेड़ मां के नाम“ अभियान के तहत लगाए गए पौधे-
इस अवसर पर सरगुजा लोकसभा सांसद चिंतामणी महाराज एवं कलेक्टर विलास भोसकर ने शासन के “एक पेड़ मां के नाम“ अभियान में शामिल होते हुए पौधारोपण किया और लोगों से भी इस अभियान में शामिल होने की अपील की। इस दौरान पौधों में रक्षासूत्र बांधकर सुरक्षा की जिम्मेदारी भी ली गई। इसके साथ ही अधिकारी-कर्मचारियों सहित महिलाओं ने भी परिसर में फलदार पौधौं लगाए।

जल संरक्षण हेतु दिलाई गई शपथ-
कार्यक्रम में महिलाओं को जल शक्ति से नारी जल आंदोलन को जन आंदोलन बनाने के लिए जल संरक्षण के संबंध में शपथ दिलाई गई। इस दौरान पानी बचाने और  संचयन का विवेकपूर्ण उपयोग करने तथा जल सरंक्षण को बढ़ावा देने में सहयोग करने और अपने परिवारजनों, मित्रों, पड़ोसियों और अपने आने वाली पीढ़ियों को इसके समुचित उपयोग और व्यर्थ न करने लिए प्रेरित किए जाने की शपथ कर भविष्य सुरक्षित रखने की शपथ ली गई।

 

 

और भी
Previous123456789...170171Next