क्राइम पेट्रोल

कुएं के अंदर एक-एक करके 4 लोग उतरे, कोई ऊपर नहीं आया...

 कटघोरा विकासखंड मुख्यालय से क़रीब आठ किलोमीटर दूर गाँव जुराली में शुक्रवार को कुएं के डूबकर पिता-पुत्री समेत 4 लोगों की मौत हो गई। इससे पहले जांजगीर जिले में भी कुएं में उतरने से 5 लोगों की मौत हो गई थी। बताया जा रहा है कि यहां भी जहरीली गैस के कारण इनकी मौत हुई है।एसडीआरएफ की टीम ग्रामीणों के शव कुएँ से निकालने में जुटी हुई है।


घटना की सूचना क़रीब डेढ़ बजे ग्रामीणों के ज़रिए पुलिस को मिली। हादसे का संभावित समय साढ़े बारह से सवा एक बजे के बीच का माना जा रहा है। पुलिस अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार कुआँ जहरु पटेल का था, और जहरु कुएँ की सफ़ाई करने अंदर उतरा था। जब वो देर तक वापस नहीं आया तो जहरु को देखने उसकी बेटी सपीना पटेल कुएँ में उतरी। इसके बाद बारी-बारी से शिवचरण उर्फ कली और मनबोध पटेल कुएँ में उतरे, इन सभी की मौत हो गई।

हादसे में जान गँवाने वालों की संख्या पाँच हो सकती थी, क्योंकि जब चारों के कुएँ में जाने पर हलचल नहीं हुई तो पाँचवा ग्रामीण कुएँ में उतरा था। लेकिन ग्रामीण जैसे ही कुएँ के पानी के पास पहुँचा उसकी तबियत बिगड़ी और वह वापस खींच लिया गया।

इनकी हुई मौत
जुराली में हुए हादसे में मारे गए ग्रामीणों के नाम जहरु पटेल (60 वर्षीय),सपीना पटेल(16 वर्ष),शिवचरण पटेल (45 वर्ष) और मनबोध पटेल (57 वर्ष) हैं। इन सभी के शव कुएँ से निकाले जाने के लिए विशेष प्रशिक्षित दल की मदद ली जा रहा है।

मौक़े पर एसपी कलेक्टर समेत अमला मौजूद
प्रदेश में आज ही कुएँ की सफ़ाई के दौरान ग्रामीणों की मौत की यह दूसरी घटना है। पहली घटना जांजगीर चाँपा जिले में गठित हुई थी जिसमें पाँच ग्रामीण मारे गए जबकि दूसरी कोरबा में हुई है जहां चार ग्रामीणों की मौत हुई है। मौक़े पर एसपी सिद्धार्थ तिवारी और कलेक्टर अजीत बसंत प्रशासनिक दल के साथ मौजूद हैं।

 

 

Leave Your Comment

Click to reload image