क्राइम पेट्रोल

कुएं के अंदर एक-एक करके 4 लोग उतरे, कोई ऊपर नहीं आया...

 कटघोरा विकासखंड मुख्यालय से क़रीब आठ किलोमीटर दूर गाँव जुराली में शुक्रवार को कुएं के डूबकर पिता-पुत्री समेत 4 लोगों की मौत हो गई। इससे पहले जांजगीर जिले में भी कुएं में उतरने से 5 लोगों की मौत हो गई थी। बताया जा रहा है कि यहां भी जहरीली गैस के कारण इनकी मौत हुई है।एसडीआरएफ की टीम ग्रामीणों के शव कुएँ से निकालने में जुटी हुई है।


घटना की सूचना क़रीब डेढ़ बजे ग्रामीणों के ज़रिए पुलिस को मिली। हादसे का संभावित समय साढ़े बारह से सवा एक बजे के बीच का माना जा रहा है। पुलिस अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार कुआँ जहरु पटेल का था, और जहरु कुएँ की सफ़ाई करने अंदर उतरा था। जब वो देर तक वापस नहीं आया तो जहरु को देखने उसकी बेटी सपीना पटेल कुएँ में उतरी। इसके बाद बारी-बारी से शिवचरण उर्फ कली और मनबोध पटेल कुएँ में उतरे, इन सभी की मौत हो गई।

हादसे में जान गँवाने वालों की संख्या पाँच हो सकती थी, क्योंकि जब चारों के कुएँ में जाने पर हलचल नहीं हुई तो पाँचवा ग्रामीण कुएँ में उतरा था। लेकिन ग्रामीण जैसे ही कुएँ के पानी के पास पहुँचा उसकी तबियत बिगड़ी और वह वापस खींच लिया गया।

इनकी हुई मौत
जुराली में हुए हादसे में मारे गए ग्रामीणों के नाम जहरु पटेल (60 वर्षीय),सपीना पटेल(16 वर्ष),शिवचरण पटेल (45 वर्ष) और मनबोध पटेल (57 वर्ष) हैं। इन सभी के शव कुएँ से निकाले जाने के लिए विशेष प्रशिक्षित दल की मदद ली जा रहा है।

मौक़े पर एसपी कलेक्टर समेत अमला मौजूद
प्रदेश में आज ही कुएँ की सफ़ाई के दौरान ग्रामीणों की मौत की यह दूसरी घटना है। पहली घटना जांजगीर चाँपा जिले में गठित हुई थी जिसमें पाँच ग्रामीण मारे गए जबकि दूसरी कोरबा में हुई है जहां चार ग्रामीणों की मौत हुई है। मौक़े पर एसपी सिद्धार्थ तिवारी और कलेक्टर अजीत बसंत प्रशासनिक दल के साथ मौजूद हैं।

 

 

और भी

नाग के डंसने से किशोरी की मौत

 उत्तर प्रदेश के कौशाम्बी जिले में घर के अंदर खाना निकालने गई एक 14 वर्षीय किशोरी को जहरीले काले नाग ने डंस लिया। सांप के काटते ही किशोरी चिल्लाई तो परिजन मौके पर पहुंचे। आनन-फानन में इलाज के लिए सर्पदंश की शिकार को अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। किशोरी की मौत से परिजनों में कोहराम मच गया। हालांकि, किसी तरह ग्रामीणों ने रेस्क्यू ऑपरेशन कर जहरीले नाग को पकड़ लिया।

घटना पश्चिम शरीरा थाना के अमरूपुर गांव की है। गांव की रहने वाले अमरनाथ राजपूत मजदूरी कर अपना परिवार चलते हैं। अमरनाथ की 14 वर्षीय बेटी करिश्मा घर की रसोई में बने रखे खाने को निकालने के लिए पहुंची थी। इसी दौरान जहरीले काले नाग ने करिश्मा को डंस लिया। नाक पर सांप के दांत लगते ही करिश्मा चीख पड़ीनाग के डंसने से किशोरी की मौत।

कौशाम्बी। उत्तर प्रदेश के कौशाम्बी जिले में घर के अंदर खाना निकालने गई एक 14 वर्षीय किशोरी को जहरीले काले नाग ने डंस लिया। सांप के काटते ही किशोरी चिल्लाई तो परिजन मौके पर पहुंचे। आनन-फानन में इलाज के लिए सर्पदंश की शिकार को अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। किशोरी की मौत से परिजनों में कोहराम मच गया। हालांकि, किसी तरह ग्रामीणों ने रेस्क्यू ऑपरेशन कर जहरीले नाग को पकड़ लिया।

 

 

और भी

दुल्हन की हत्या करने वाले ने किया सुसाइड

 उत्तर प्रदेश के झांसी में ब्यूटी पार्लर में घुसकर दुल्हन की हत्या करने वाले सिरफिरे युवक ने सुसाइड कर लिया। उसने एमपी के एक होटल में जाकर फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। पुलिस उसे पकड़ने के लिए लगातार दबिश दे रही थी, लेकिन इस बीच उसने अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। फिलहाल, स्थानीय पुलिस (मुरैना) ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। आगे की जांच-पड़ताल की जा रही है। दरअसल, बीते 23 जून को झांसी के सीपरी बाजार थाना क्षेत्र स्थित एक ब्यूटी पार्लर में काजल नाम की दुल्हन शादी के लिए तैयार हो रही थी। तभी एक सिरफिरा युवक पार्लर में घुसा और काजल को गोली मारकर मौके से फरार हो गया। घायल हालत में काजल को अस्पताल ले जाया गया लेकिन उसकी जान नहीं बचाई जा सकी। डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस घटना के बाद से पुलिस हत्यारोपी युवक की तलाश में जुटी थी।

और भी

पत्नी के जहर खाने पर छत से कूदा पति

  बांदा में एक शख्स को अपनी पत्नी को डांटना हमेशा के लिए भारी पड़ गया। गुस्साई पत्नी ने जहर खा लिया। कुछ ही देर में उसकी हालत बिगड़ने लगी। यह देख पति ने छत से छलांग लगा दी। पति बोला जब तुम ही नहीं रहोगी तो मैं जिंदा रहकर क्या करूंगा। घटना के बाद पति बुरी तरह घायल हो गया। वहीं पत्नी की इलाज के दौरान मौत हो गई। परिजनों ने दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया। वहां इलाज के दौरान पत्नी की दर्दनाक मौत हो गयी। वहीं पति को गंभीर हालत में हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है। डॉक्टरों का कहना है कि पति की हालत गंभीर है। भर्ती करके इलाज किया जा रहा है। परिजनों ने बताया कि पति 3 दिन पहले ही गुजरात से लौटा है। कुछ दिन पहले ही दोनों की शादी हुई थी। मामला बबेरू कोतवाली क्षेत्र के सतन्याय गांव का है।

 

 

और भी

घर में लगी भीषण आग, परिवार के चार लोगों की मौत...

 राजधानी दिल्ली में बड़ी घटना हुई है। प्रेम नगर इलाके में एक घर में भीषण आग लग गई। आग में चार लोगों की मौत हो गई। आग सुबह करीब 3:30 बजे लगी। दो दमकल गाड़ियों ने मौके पर पहुंचकर आग बुझाई।


जानकारी के अनुसार, नजफगढ़ के प्रेम नगर इलाके में सोमवार देर रात एक घर में आग लगने से दंपती समेत परिवार के चार लोगों की दम घुटने से मौत हो गई, शुरुआती जांच में पता चला है कि आग इनवर्टर में शॉर्ट सर्किट से लगी, घटना के समय परिवार के सदस्य पहली मंजिल पर सो रहे थे।

सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंचे दमकल कर्मी ने परिवार के सभी लोगों को अचेतावस्था में बाहर निकालकर पास के अस्पताल में भर्ती करवाया जहां चारों को मृत घोषित कर दिया गया। मृतकों की पहचान हीरा सिंह, उनकी पत्नी नीतू सिंह, बेटा रॉबिन और लक्ष्य के रूप में हुई है।

पुलिस के मुताबिक, हादसा नजफगढ़ के प्रेम नगर कलोनी में हुआ है। जिसमें पति, पत्नी, दो बेटे की मौत हो गई है। तड़के साढ़े तीन बजे के आसपास मकान में आग लगी थी। दम घुटने से मौत होने की वजह सामने आ रही है।

 

 

और भी

ब्यूटी पार्लर गई दुल्हन की गोली मारकर हत्या

 यूपी के झांसी में बारात आने से चंद घंटे पहले तैयार होने पार्लर गई दुल्हन को एक युवक ने गोली मार दी। गोली लगने के बाद झांसी मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान दुल्हन की मौत हो गई।

जैसे ही दुल्हन को गोली मारे जाने की खबर घर में फैली शादी की खुशियां मातम में बदल गई। परिवार का रो-रोकर बुरा हाल है। सूचना मिलते ही थाने की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर आरोपी की गिरफ्तारी के लिए दबिश देना शुरू कर दिया है।

दरअसल मध्य प्रदेश में दतिया जिले के सोनागिरि थाना क्षेत्र में बरगांव की रहने वाली 22 साल की काजल की शादी झांसी में राज नाम के युवक के शादी तय हुई थी। झांसी के मैरेज हॉल निशा गार्डन में शादी समारोह चल रहा था और रिश्तेदारों का आना-जाना लगा हुआ था। गाने-बजाने का कार्यक्रम चल रहा था और इसी दौरान बारात आने से पहले दुल्हन तैयार होने के लिए नजदीक के ही ब्यूटी पॉलर्र गई थी।

 

 

और भी

तमिलनाडु में जहरीली शराब पीने से 34 की मौत, 60 बीमार, CID करेगी जाँच

  तमिलनाडु के कल्लाकुरिची जिले में जहरीली शराब पीने से कम से कम 34 लोगों की मौत हो गई है और 60 से अधिक लोग विभिन्न अस्पतालों में भर्ती हैं। अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। कल्लाकुरिची के जिला कलेक्टर एम.एस. प्रशांत ने पुष्टि की, कल्लाकुरिची में कथित अवैध शराब के सेवन से मरने वालों की संख्या बढ़कर 34 हो गई है।

मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन ने घटना पर दुःख व्यक्त किया और इसे रोकने में विफल रहने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है।तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने मृतकों के परिवार को 10-10 लाख रुपये और उपचाराधीन लोगों को 50-50 हजार रुपये देने की घोषणा की है। पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति बी गोकुलदास की मौजूदगी वाले एक सदस्यीय आयोग ने मामले की जांच करने की घोषणा की है, जिसकी रिपोर्ट 3 महीने के भीतर प्रस्तुत की जाएगी।

स्टालिन ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा, कल्लाकुरिची में मिलावटी शराब पीने वाले लोगों की मौत की खबर सुनकर मैं स्तब्ध और दुःखी हूं। इस अपराध में शामिल लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इसे रोकने में विफल रहने वाले अधिकारियों के खिलाफ भी कार्रवाई की गई है। राज्यपाल आर.एन. रवि ने भी शोक व्यक्त किया और बीमारों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।

उन्होंने कहा, कल्लाकुरिची में अवैध शराब के सेवन से हुई कथित मौतों से गहरा सदमा लगा है। कई और पीड़ित गंभीर हालत में हैं और जिंदगी के लिए संघर्ष कर रहे हैं। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना है और अस्पतालों में भर्ती लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं। हमारे राज्य के विभिन्न हिस्सों से अवैध शराब के सेवन से अक्सर लोगों की दुःखद मौत की खबरें आती रहती हैं। यह अवैध शराब के उत्पादन और खपत को रोकने में निरंतर हो रही चूक को दर्शाता है। यह गंभीर चिंता का विषय है।

और भी

कोटा में छात्र ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

 कोटा में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान-संयुक्त प्रवेश परीक्षा के लिए तैयारी कर रहे एक और छात्र ने आत्महत्या कर लिया है। छात्र ने अपने कमरे में फंदा लगाकर आत्महत्या कर लिया।

पुलिस ने रविवार को इस घटना के बारे में जानकारी दी। बताया जा रहा है कि देर तक जब छात्र अपने कमरे से बाहर नहीं निकला तो दोस्तों ने पेइंग गेस्ट हाउस के मालिक को सूचना दी। इसके बाद पुलिस को बुलाया गया। पुलिस ने दरवाजे का ताला तोड़कर कमरे में देखा तो छात्र का शव फंदे से लटकता मिला।
बिहार का रहने वाला था छात्र
पुलिस ने बताया कि मृतक छात्र की पहचान बिहार के मोतिहारी जिले के रहने वाले आयुष जायसवाल के रूप में हुई है। मृत छात्र आयुष जायसवाल प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी के लिए महावीर नगर क्षेत्र के सम्राट चौक के पास एक ‘पेइंग गेस्ट हाउस’ में रह रहा था।

पुलिस ने आगे बताया कि शनिवार रात तक जब वह अपने कमरे से बाहर नहीं आया तो उसके दोस्तों ने ‘पेइंग गेस्ट हाउस’ के मालिक को इसकी सूचना दी। इसके बाद 'पेइंग गेस्ट हाउस' के मालिक ने पुलिस को इस बारे में सूचना दी।
नहीं मिला कोई सुसाइड नोट
थानाधिकारी महेंद्र मारू ने बताया, ‘‘प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे एक छात्र ने शनिवार रात आत्महत्या कर ली। वह अपने कमरे में फंदे से लटका मिला।

कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। उसके परिजनों के यहां पहुंचने के बाद पोस्टमार्टम कराया जाएगा।’’ उन्होंने बताया कि सूचना मिलने के बाद एक पुलिस टीम मौके पर पहुंची और दरवाजे का ताला तोड़कर कमरे में दाखिल हुई।

उन्होंने बताया कि वहां छात्र फंदे से लटका मिला। पुलिस ने उसे नीचे उतारा और न्यू मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले गई, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। कोटा में इस वर्ष अब तक प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे किसी छात्र द्वारा खुदकुशी किए जाने का यह 11वां मामला है।

और भी

किशोरी ने फांसी लगाकर दी जान

 मस्तूरी क्षेत्र के दर्रीघाट में रहने वाली 17 साल की किशोरी ने अपने कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना की सूचना पर पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पीएम कराया है।

पुलिस मामले की जांच कर रही है। मस्तूरी के दर्रीघाट में रहने वाले दिनेश राव गोमकाड़े ने बताया कि शनिवार की रात वह अपनी भाभी अनिता के घर गया था। वहां पर भोजन के बाद वह बच्चों और अपनी भाभी से बात कर रहा था। रात करीब 11 बजे वह अपने घर जाने के लिए निकल रहा था।

इसी दौरान उसने दूसरे कमरे की खिड़की से देखा कि बड़ी भतीजी रिया पंखे पर फांसी के फंदे से लटक रही थी। उसने शोर मचाकर परिवार के अन्य सदस्यों को इसकी जानकारी देकर कमरे का दरवाजा खोलने कोशिश की।

दरवाजा अंदर से बंद होने के कारण उन्होंने किसी तरह दरवाजा तोड़कर किशोरी को फंदे नीचे उतारा। तब तक किशोरी की मौत हो गई थी। उन्होंने तत्काल घटना की सूचना पुलिस को दी।

इस पर पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पीएम कराया है। फिलहाल आत्महत्या का कारण स्पष्ट नहीं है। स्वजन से पूछताछ में कारणों की जानकारी मिल सकेगी।

 

 

और भी

पत्नी को मौत के घाट उतारने के बाद पति ने की आत्महत्या...

 जिले के उतई थाना क्षेत्र में बीती रात पति ने पत्नी सिर पर वारकर मौत की घाट उतार दिया और खुद फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। और दरवाजा तोड़कर अंदर प्रवेश किया। जहां पर पत्नी का शव लहूलुहान जमीन पर पड़ी थी और पति का शव फांसी के फंदे पर लटका था। पुलिस ने दोनों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।


घटना उतई थाना क्षेत्र के ग्राम खोपली के धौराभठा खार की है। जहां पति-पत्नी दोनों खेती किसानी का कार्य करते थे। बीती रात दोनों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ और विवाद इतना बढ गया कि पति ने गुस्से में पत्नी के सिर फावड़े से वार कर हत्या कर दी और खुद फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। घटना की सूचना मिलते ही पाटन एसडीओपी आशीष बंछोर और उतई थाना प्रभारी मनीष शर्मा मौके पर पहुंचे और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया गया है।

जानकारी के अनुसार, पति हेंगल बंजारे और उसकी पत्नी यशोदा दोनों उतई के ग्राम खोपली में खेती किसानी का कार्य करते थे। प्रतिदिन की तरह वो सुबह से खेती करने गए थे जिसके बाद उन्हें किसी ने नहीं देखा था। शंका होने पर जब उनके कमरे में झांककर देखा गया तो दोनों के शव दिखाई दिए। जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। सूचना के बाद पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। जहां खेती में बने कमरे में दोनों के शव थे और कमरा अंदर से बंद था। जिसके बाद पुलिस की मौजूदगी में कमरे का दरवाजा को तोड़कर पति- पत्नी दोनों की शवों को बाहर निकाला गया।

एसडीओपी आशीष बंछोर ने बताया कि ग्रामीणों के द्वारा पुलिस को सूचना मिली कि खोपली गांव के धौराभठा खार के खेत में बने कमरे में पति-पत्नी के शव पड़ा है और कमरा अंदर से बंद है। जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और दरवाजा तोड़कर दोनों के शव को बाहर निकलकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पति ने यह कदम क्यों उठाया, इसके  बारे में अभी कोई जानकारी नहीं है। पुलिस जांच में जुट गई है और परिजन और आसपास के लोगो से पूछताछ की जा रही है।

 

 

और भी

शराब पीने से किया मना तो बेटे ने की पिता की हत्‍या

रायपुर: राजधानी के गुढ़ियारी क्षेत्र में युवक ने चाकू गोदकर अपने पिता की हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपित बसंत नायक को गिरफ्तार कर लिया है। पिता ने उसे शराब पीने से मना किया था, जिसके बाद विवाद हुआ और आरोपित ने चाकू से कई वार कर मौत के घाट उतार दिया। प्रार्थी राज नायक ने गुढ़ियारी थाना में रिपोर्ट में बताया कि वह पार्वती नगर गुढ़ियारी में किराये से परिवार के साथ रहता है। सिटी बस में मैकेनिक का काम करता है। दो भाई और एक बहन हैं, जो माता-पिता के साथ रहते हैं।

मंगलवार की रात वह टहलकर साढ़े 10 बजे घर आया तो पिता उमेंद्र नायक के कमरे में लड़ाई झगड़े की आवाज सुनाई दी। जाकर देखा तो बड़ा भाई बसंत नायक पिता से मारपीट कर रहा था। उसके पास चाकू था, जिससे हत्या करने की मंशा से सीने, पसली में मारकर चोट पहुंचाया। उसके पिता को तत्काल इलाज करवाने के लिए भीमराव आंबेडकर अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डाक्टर ने जांच के बाद मृत घोषित कर दिया। इसके बाद घटना की सूचना गुढ़ियारे थाने में दी गई।

और भी

छोटे भाई ने की बड़े भाई की हत्या ,तीन आरोपी गिरफ्तार

 राजनांदगांव: राजनांदगांव में पुलिस ने अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाई है जहां भाई ने ही भाई की हत्या की घटना को अंजाम दिया बिजेतला खेत में मिले अज्ञात शव के मामले में पुलिस ने खुलासा किया है। आए दिन मारपीट और शराब के नशे में परिजनों से वाद विवाद करने के कारण छोटे भाई ने ही अपने भाई की हत्या कर दी। साक्ष्य छुपाने में परिजनों ने भी सहायता की तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। राजनांदगांव पुलिस कंट्रोल रूम में आज प्रेस वार्ता लेकर पुलिस ने अंधे का किया खुलासा,मृतक बेदप्रकाश की हत्या करने के बाद मृतक के शव को बोरी में भरकर कुएं में फेंका गया था,17 मई को मृतक बेदप्रकाश का शव बिजेतला गांव के कुएं में बोरी में बंधा हुआ मिला था।

मृतक आए दिन शराब पीकर घर में वाद विवाद करता था जिससे परेशान होकर छोटे भाई बालमुकुंद ने 15  मई को कुल्हाड़ी से मार कर बड़े भाई बेदप्रकाश को मौत के घाट उतार दिया,हत्या करने के बाद उसकी लाश को कुएं में फेंक दिया।  खून के निशान को मृतक की मां ने साफ किया और बॉडी को कुएं में फेंकने के लिए मृतक के पिता ने आरोपी छोटे भाई का दिया साथ,साक्ष्य छुपाने और हत्या में सहयोग के लिए माता और पिता को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है,पारिवारिक विवाद और आए दिन मारपीट की घटना मृतक द्वारा की जाती थी जिससे परेशान होकर उसके छोटे भाई ने ही धारदार हथियार से उसकी हत्या कर दी पूरे मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर पुलिस मामले की जांच कर रही है।

और भी

रंजिश मिटाने गया था, नाबालिगों ने युवक का गला काट दिया...

दुर्ग:  सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के महमरा गांव में बीती रात एक युवक की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी गई। घटना के बाद गांव के लोगों ने युवक को लहूलुहान हालत में जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बताया जा रहा है कि रंजिश खत्म करने के लिए दोनों मिले थे। इस बीच विवाद और बढ़ गया। आरोपी ने युवक की गला रेतकर हत्या कर दी। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। मामले में पुलिस ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। सभी आरोपी नाबालिग बताए जा रहे हैं।

मामले में थाना प्रभारी महेश ध्रुव ने बताया कि मृतक ओम प्रकाश मोहलई गांव का रहने वाला है। भवन निर्माण में मिस्त्री का काम करता था। आरोपियों की मृतक से रंजिश थी। मृतक अपने दोस्त की शादी में शामिल होने महमरा गांव गया हुआ था, जहां आरोपी भी पहले से आए हुए थे। आरोपियों ने शराब के नशे में मृतक ओम प्रकाश को पुराना झगड़ा खत्म करने के मुद्दे पर किनारे बुलाया।

इस दौरान मृतक उनसे बात कर था, लेकिन मृतक नहीं माना इस दौरान विवाद बढ़ गया। इसी बीच एक नाबालिग लड़के ने अपने पास रखे चाकू से मृतक के गले पर वार कर दिया। इस घटना में ओम प्रकाश लहूलुहान हो गया। घटना को अंजाम देकर सभी आरोपी फरार हो गए। घायल ओम प्रकाश को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया। मामले में पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर देर रात सभी पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने बताया कि हत्या की घटना को अंजाम देने वाले सभी आरोपी दुर्ग के नया पारा पंचशील नगर के रहने वाले हैं। पुलिस के अनुसार नाबालिगों की ओमप्रकाश से रंजिश की वजह एक लड़की है जो मोहलई गांव की रहने वाली है। दरअसल नाबालिग उक्त लड़की के लिए अक्सर मोहलई के चक्कर लगाते थे और इसकी जानकारी लड़की ने ओमप्रकाश को दी। इसपर ओमप्रकाश ने सभी को फटकार लगाई थी। इसके बाद से ही इनके बीच रंजिश चल रही थी। पुलिस के अनुसार आरोपी नाबालिग आदतन अपराधी किस्म के हैं।

और भी

गनियारी डबल मर्डर मामले में पुलिस ने 4 संदिग्धों को हिरासत में लिया...

 दुर्ग: जिले के गनियारी गांव में डबल मर्डर मामले में पुलिस ने 4 संदिग्धों को हिरासत में लिया है। पुलिस की पूछताछ में कई एंगल सामने आ रहे, लेकिन अब तक हत्यारे और वजह साफ नहीं हो पाई है। पुलिस जल्द मामले का खुलासा करेगी। घटना पुलगांव थाना क्षेत्र के गनियारी गांव की है।


जानकारी के मुताबिक, 6 मार्च बुधवार की रात घर में राजबती साहू (62) और उसकी पोती सविता साहू (17) दोनों साथ में सो रहे थे। पास में ही उनके परिवार के दूसरे सदस्यों का भी घर है। सविता 11वीं कक्षा में पढ़ती थी। इसी दौरान दोनों के सिर पर अज्ञात आरोपियों ने कुल्हाड़ी से वार कर हत्या कर दी। पुलिस ने सबसे पहले एक गांव के ही एक संदेही भानू (24) को हिरासत में लिया। राजवती साहू के घर गाय है। जिसका दूध वो लोग बेचते थे। कुछ दिन पहले जब भानू दूध लेने उनके घर पहुंचा, तो सविता यादव घर पर अकेली थी।

पुलिस पूछताछ में भानू ने बताया कि घटना वाले दिन वह परिवार के साथ किसी की सगाई में गया था। उसके बाद वापस आकर घर पर सो गया था। पूछताछ के आधार पर एक अधेड़ समेत तीन अन्य लोगों को भी उठाया गया है, जो कि मृतक के परिवार के ही है।

 

 

और भी

जीजा की हत्या करने वाला साला गिरफ्तार

भाटापारा: भाटापारा मामले का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है कि 23 को प्रार्थी मोहन पैंकरा पिता सरजु पैकरा, उम्र 60 वर्ष, साकिन डमरू, थाना सिटी कोतवाली बलौदाबाजार जिला बलौदाबाजार-भाटापारा छ.ग. में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराया कि 22 के रात्रि करीब 10.00 बजे इसका बड़ा लड़का राजू पैकरा अपने रूम में सो रहा था उसी दौरान इसके बड़े लड़के का साला धनेश्वर पैंकरा उसके कमरे में चला गया और अंदर से दरवाजा बंद कर लिया, कुछ देर बाद राजू पैंकरा का चिलाने का आवाज आया तब घर के सदस्य जाकर खिड़की से देखे तो धनेश्वर पैंकरा फावड़ा से अपने जीजा राजू पैंकरा को मार रहा था, किसी तरह से दरवाजा खोलवाया तब धनेश्वर पैकरा दरवाजा खोला और भाग गया, तब अंदर जाकर देखे तो राजू पैंकरा के सिर में गंभीर चोट लगकर खून निकल रहा था, बिस्तर पर बेहोश पड़ा था। तब ईलाज हेतु चंदा देवी तिवारी अस्पताल बलौदाबाजार में भर्ती कराये हैं। प्रार्थी के रिपोर्ट पर धारा 307 भादस का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया विवेचना दौरान दिनांक 23.12. 2023 को घटना स्थल से खून लगा एक हरा छिटदार गोदरी, एक पीला रंग प्लास्टिक बोरी का बना फट्टी जिसमें आहत सोया था एवं घटना प्रयुक्त लोहे का फावड़ा जप्त किया गया। आहत राजू पैंकरा ईलाज दौरान चंदा देवी तिवारी अस्पताल बलौदाबाजार में 25.12.2023 को फौत हो गया। जो अस्पताली मेमो. प्राप्त होने पर क्र. 135/23 धारा 174 जाफौ. कायम कर शव का पंचनामा कार्यवाही पश्चात जिला अस्पताल बलौदाबाजार से पोस्टमार्टम कराया गया, तथा विवेचना दौरान प्रकरण में धारा 302 भादस जोड़ी गयी है। कथन प्रार्थी कथन चश्मदीद गवाह घटना स्थल निरीक्षण डॉ. मुलाहिजा रिपोर्ट एवं अब तक के विवेचना से आरोपी धनेश पैकरा उर्फ धनेश्वर पैकरा के विरूद्ध धारा सदर का अपराध घटित करना सबूत पाये जाने से आरोपी को हिरासत में लेकर घटना के संबंध में पुछताछ किया गया, जो जुर्म स्वीकार करने मेमोरण्डम कथन में बताया कि घटना दिनांक 22/12/2023 को अपने पत्नी, बच्चों को साथ लेकर मेहमानी करने अपने बहन दामाद मृतक राजू पैकरा के घर गया था, और रात्रि में मृतक राजू पैकरा अपने रूम में सो रहा था, उसी दौरान यह फावड़ा से राजू पैकरा के सिर मे प्राण घातक हमला कर गंभीर चोट पहुंचाना, जिससे ईलाज दौरान उसकी मृत्यु होना बताया तत्पश्चात आरोपी को आज दिनांक 21.02.2024 को गिरफ्तार कर कर जेल भेजा गया है। उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी अमित कुमार तिवारी आरक्षक अकरम खान का विशेष योगदान रहा। जिले में अपराधों की त्वरित रोकथाम हेतु वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी अमित तिवारी के दिशा निर्देश में थाना सिटी कोतवाली के अपराध क्र 1024/2024 धारा 307,302 भादवि के आरोपी को गिरफ्तार कर कार्यवाही किया गया।

 

 

और भी

बेंगलुरु दोहरे हत्याकांड से दहला, आरोपी ने पुलिस के सामने किया समर्पण

बेंगलुरु: यहां के कुम्बरपेट इलाके में दो व्यापारियों की बुधवार रात चाकू मारकर हत्या कर दी गई। यह जानकारी पुलिस ने दी।मृतकों की पहचान 55 वर्षीय सुरेश और 68 वर्षीय महेंद्र के रूप में हुई है। आरोपी की पहचान बेंगलुरु के मूल निवासी भद्रा के रूप में की गई है।

अपराध को अंजाम देने के बाद उसने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया।पुलिस के मुताबिक, यह घटना संपत्ति विवाद को लेकर हरि मार्केटिंग बिल्डिंग के परिसर में हुई।शुरुआती जांच से पता चला है कि विवाद मुख्य सड़क पर स्थित चार मंजिली इमारत एक सामुदायिक संघ को सौंपने को लेकर हुआ था।मामला अदालत में लंबित था और आरोपी भद्रा इस मामले के बारे में बात करने के लिए पीड़ितों में से एक सुरेश के पास गया था।

सुरेश से बात करते समय आरोपी ने उस पर चाकू से वार कर दिया। इस बीच, महेंद्र सुरेश को बचाने के लिए दौड़ा और भद्रा ने उसे भी चाकू मार दिया।हालांकि दोनों पीड़ितों ने भागने की कोशिश की, लेकिन आरोपी भद्र ने हाथ में चाकू लेकर उनका पीछा किया और उन पर बार-बार वार कर हत्या कर दी।

हलासुरू गेट के पुलिस क्षेत्राधिकारी मौके पर पहुंचे और डीसीपी (सेंट्रल) शेखर तेक्कन्ननवर ने भी घटनास्थल का दौरा किया।डीसीपी शेखर ने बताया कि शुरुआती जांच में पता चला है कि संपत्ति विवाद को लेकर दोहरा हत्याकांड हुआ है।आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है और उससे पूछताछ की जा रही है। उन्होंने बताया कि आरोपी पीड़ितों का दूर का रिश्तेदार है।आगे जांच चल रही है।

 

 

और भी

रायपुर में युवक की चाकू गोदकर हत्या, पुलिस मौके पर मौजूद

रायपुर: राजधानी में एक युवक की चाकू मारकर हत्या कर दी गई। जानकारी के मुताबिक घटना को अंजाम पुराने मर्डर मामले में जेल जा चुके आरोपियों ने दिया है।

मृतक का नाम आशीष बंजारे है। पूरा मामला डीडी नगर थाना क्षेत्र का है। बताया जा रहा है कि घटना शाम 4 बजे की है। मामले में एक आरोपी छोटू यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

एक अन्य आरोपी की पुलिस तलाश में जुटी है। वारदात में 2 युवक घायल भी हैं, जिनका नाम उमेश मशकुले और आकाश यादव बताया जा रहा है। जिन्हें एम्स में भर्ती कराया गया है।

 

 

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, इस मामले में आरोपियों के बीच शनिवार की रात भी पुरानी बातों को लेकर बहसबाजी हुई थी, जिसमें आरोपी और आशीष बंजारे ने दोनों एक दूसरे को धमकी दी थी।

 
और भी

हाई कोर्ट ने निठारी हत्याकांड के मुख्य आरोपी को किया बरी

इलाहाबाद: निठारी हत्याकांड के मुख्य आरोपी को बरी कर दिया गया है। इस निर्मम हत्याकांड मामले में आज सोमवार को इलाहाबाद हाई कोर्ट ने मुख्य आरोपी सुरेंद्र कोली और उसके सह-आरोपी मोनिंदर सिंह पंढेर को बरी कर दिया है। कोर्ट ने कोली को 12 मामलों में निर्दोष पाया। जानकारी दे दें कि इन मामलों के लिए उसे पहले मौत की सजा दी गई थी। साथ ही कोर्ट ने पंढेर को भी 2 मामलों में निर्दोष पाया गया, जिसमें उसे मौत की सजा दी गई थी।


सबसे चर्चित हत्याकांड
जानकारी दे दें कि निठारी हत्याकांड दिल्ली एनसीआर का सबसे चर्चित हत्याकांड रहा है। ये हत्याकांड नोएडा की सबसे कुख्यात घटनाओं में से एक है जिसने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था। इससे पहले गाजियाबाद की सीबीआई कोर्ट ने कोली और पंढेर को 2005 और 2006 के बीच कई बच्चियों के बलात्कार और हत्या का दोषी पाया गया था।

नाले में पाए गए थे कंकाल
यह घटना दिसंबर 2006 में सामने आई जब नोएडा के निठारी गांव में एक घर के पास नाले में कंकाल पाए गए। जांच करने पर, कोली और उसके नियोक्ता पंढेर को पीड़ितों में से एक के लापता होने के आरोप में हिरासत में ले लिया गया। कोली के कबूलनामे के बाद, पुलिस ने आस-पास की ज़मीन की खुदाई शुरू की और बच्चों के शव खोजे।

दो पुलिसकर्मियों हुए थे निलंबित

मामला जल्द ही केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंप दिया गया - जिसने 16 मामले दर्ज किए, उनमें से सभी में हत्या, अपहरण और बलात्कार के अलावा सबूतों को नष्ट करने के लिए सुरिंदर कोली और एक में अनैतिक तस्करी के लिए पंढेर पर चार्जशीट दायर किया। कई बच्चों के लापता होने की सूचना मिलने के बावजूद कार्रवाई करने में विफल रहने पर दो पुलिसकर्मियों को भी निलंबित कर दिया गया था।

 

 

और भी
Previous123456789...3637Next