हिंदुस्तान

ओडिशा के BJP सरकार ने जगन्नाथ मंदिर के खोले चारों द्वार

ओडिशा में जगन्नाथ मंदिर के चारों द्वार खोल दिए गए हैं। मुख्यमंत्री मोहन चरण माझी की मौजूदगी में जगन्नाथ मंदिर के चारों द्वार खोले गए। इस दौरान माझी ने जगन्नाथ मंदिर में पूजा की। पुरी के सांसद संबित पात्रा, बालासोर के सांसद प्रताप चंद्र सारंगी और पार्टी के अन्य नेता भी मौजूद थे। दरअसल, बीजेपी ने जगन्नाथ मंदिर के चारों द्वार को खोलने का चुनावी वादा किया था। बुधवार को शपथ ग्रहण करने के बाद ओडिशा कैबिनेट की बैठक में जगन्नाथ मंदिर के 4 द्वारों को खोलने के लिए प्रस्ताव पारित किया गया था। आज सुबह प्रशासन की मौजूदगी में 4 द्वारों को खोल दिया गया। श्रद्धालु चारों द्वारों से मंदिर में प्रवेश कर सकेंगे। इसके साथ ही माझी सरकार ने अपना पहला चुनावी वादा पूरा कर दिया है।

और भी

सुप्रीम कोर्ट का फैसला 1563 उम्मीदवारों के ग्रेस मार्क वापस लिए 23 को फिर से होगी परीक्षा

 नीट परीक्षा को लेकर जारी विवाद के बीच गुरुवार को एक बार फिर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान केंद्र ने शीर्ष कोर्ट को बताया कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) की ओर से नीट-यूजी 2024 के 1,563 उम्मीदवारों को ग्रेस अंक देने का निर्णय वापस ले लिया गया है। ऐसे उम्मीदवारों को 23 जून को फिर से परीक्षा देने का विकल्प दिया जाएगा। इसके नतीजे 30 जून को आएंगे। ऐसे में अब छात्रों के पास विकल्प होगा कि वे फिर से परीक्षा देना चाहते हैं या बिना ग्रेस मार्क के काउंसलिंग में शामिल होना चाहते हैं।

काउंसलिंग पर रोक नहीं
सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने दोहराया कि वह NEET-UG 2024 की काउंसलिंग पर रोक नहीं लगाएगा। कोर्ट ने कहा कि काउंसलिंग जारी रहेगी। हम इसे रोकेंगे नहीं। अगर परीक्षा होती है तो सब कुछ सही तरीके से होगा, इसलिए डरने की कोई बात नहीं है।

केंद्र ने कोर्ट से क्या कहा?
सरकार-एनटीए ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि 1,563 से अधिक उम्मीदवारों के परिणामों की समीक्षा के लिए एक समिति गठित की गई, जिन्हें NEET-UG में शामिल होने के दौरान हुए नुकसान की भरपाई के लिए दिए गए 'ग्रेस मार्क्स' की समीक्षा का जिम्मा दिया गया। समिति ने 1,563 NEET-UG 2024 उम्मीदवारों के स्कोरकार्ड रद्द करने का फैसला लिया है, जिन्हें ग्रेस मार्क्स दिए गए थे। इन छात्रों को फिर से परीक्षा देने का विकल्प दिया जाएगा। परीक्षाएं 23 जून को आयोजित की जाएंगी और परिणाम 30 जून से पहले घोषित कर दिए जाएंगे।

कोर्ट ने NTA की दलील को रिकॉर्ड में लिया
सर्वोच्च न्यायालय ने एनटीए के इस दलील को रिकॉर्ड में लिया कि 1563 छात्रों की फिर से परीक्षा आज ही अधिसूचित की जाएगी और इसे संभवतः 23 जून को आयोजित किया जाएगा। परिणाम 30 जून से पहले घोषित कर दिए जाएंगे, ताकि जुलाई में शुरू होने वाली काउंसलिंग प्रभावित न हो।

और भी

अरुणाचल प्रदेश के नये सीएम पद का पेमा खांडू ने ली शपथ

भाजपा नेता पेमा खांडू ने एक बार फिर अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। वहीं, चाउना मीन ने प्रदेश के उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। खांडू के साथ-साथ 11 अन्य विधायकों ने भी मंत्री पद की शपथ ली। राज्यपाल केटी परनाइक ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित अन्य नेताओं की मौजूदगी में शपथ दिलाई। एक दिन पहले ही खांडू को सर्वसम्मति से भाजपा विधायक दल का नेता चुना गया था।  

केंद्रीय प्रर्यवेक्षक भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद और तरुण चुघ बुधवार को ईटानगर पहुंचे थे। इस दौरान, उन्होंने भाजपा विधायक दल की बैठक बुलाई और विधायक दल का नेता चुना। शाम को खांडू चुघ और कई विधायकों के साथ राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल (सेनि) केटी परनायक से मुलाकात करने राजभवन पहुंचे। उन्होंने इस दौरान सरकार बनाने का दावा पेश किया। राज्यपाल ने खांडू और उनके मंत्रियों को शपथ ग्रहण के लिए आमंत्रित किया। चुघ ने राजभवन में मीडिया से बात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष बियुराम वाघ ने मुख्यमंत्री के रूप में खांडू के नाम का प्रस्ताव रखा था। पार्टी के सभी 46 विधायकों ने इसका समर्थन किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा की सराहना करते हुए, खांडू ने भाजपा में विश्वास जताने और उसे लगातार तीसरी बार सत्ता में लाने के लिए राज्य के लोगों को धन्यवाद दिया।

मोनपा जनजाति से ताल्लुक रखते हैं पेमा खांडू
पेमा खांडू का जन्म 21 अगस्त, 1979 को तवांग में हुआ था। चीन की सीमा से सटे तवांग जिले के ग्यांगखर गांव से ताल्लुक रखने वाले पेमा खांडू मोनपा जनजाति से आते हैं। उन्होंने तवांग के बोम्बा में सरकारी माध्यमिक विद्यालय में शिक्षा प्राप्त की। इसके बाद वर्ष 2000 में उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय से कला स्नातक की उपाधि हासिल की। उच्च शिक्षा पूरी करने के बाद उन्होंने राजनीति में कदम रखा।  

ऐसे हुई राजनीतिक सफर की शुरुआत
यूं तो पेमा खांडू को राजनीति विरासत में ही मिली है। उनके पिता दोरजी खांडू अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री रह चुके हैं। 2005 में पेमा खांडू राजनीति में कदम रख दिया था, जब उन्हें प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव की जिम्मेदारी सौंपी गई। लेकिन, उनके असल राजनीतिक सफर की शुरुआत तब हुई, जब उनके पिता दोरजी खांडू का हेलिकॉप्टर हादसे में निधन हो गया। दोरजी खांडू 2007 से 2011 तक अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे थे। इसके बाद पेमा खांडू ने वर्ष 2011 में अपने ही पिता के विधानसभा क्षेत्र मुक्तो से चुनाव लड़ा और विजयी हुए। इसके बाद पेमा खांडू को अरुणाचल प्रदेश मंत्रिमंडल में शामिल किया गया। वर्ष 2014 में पूर्व मुख्यमंत्री नबाम तुकी के नेतृत्व वाली सरकार में पेमा खांडू को शहरी विकास मंत्री नियुक्त किया गया। इसके बाद उनके राजनीतिक जीवन में बड़ा मोड़ आया।

भारत के सबसे युवा मुख्यमंत्री रहे हैं पेमा खांडू
पेमा खांडू भारत के सबसे युवा मुख्यमंत्री हैं, जिन्होंने 37 साल की आयु में मुख्यमंत्री के रूप में कार्यभार संभाला। खांडू के पहले अखिलेश यादव ही भारत के सबसे कम आयु वाले मुख्यमंत्री थे। अखिलेश ने 38 वर्ष की उम्र में पहली बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री की गद्दी संभाली थी।  

फुटबॉल, क्रिकेट जैसे खेलों के शौकीन
पेमा खांडू खेलों के शौकीन हैं। फुटबॉल, क्रिकेट, बैडमिंटन और वॉलीबॉल जैसे खेलों में उनकी बड़ी  दिलचस्पी है। उन्होंने राजनीति में आने के बाद उन्होंने खेलों को बढ़ावा देने के लिए खूब प्रयास किए।

और भी

रामोजी फिल्म सिटी के संस्थापक श्री रामोजी राव गारू का निधन।

ETV और रामोजी फिल्म सिटी के संस्थापक श्री रामोजी राव गारू का आज निधन हो गया है। कार्यवाहक प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने दुःख जताते हुए अपने X पर लिखा की श्री रामोजी राव गारू का निधन अत्यंत दुखद है। वे एक दूरदर्शी व्यक्ति थे जिन्होंने भारतीय मीडिया में क्रांति ला दी। उनके समृद्ध योगदान ने पत्रकारिता और फिल्म जगत पर अमिट छाप छोड़ी है। अपने उल्लेखनीय प्रयासों के माध्यम से उन्होंने मीडिया और मनोरंजन जगत में नवाचार और उत्कृष्टता के नए मानक स्थापित किए।

 
रामोजी राव गारू भारत के विकास के प्रति बेहद भावुक थे। मैं भाग्यशाली हूं कि मुझे उनसे बातचीत करने और उनके ज्ञान से लाभ उठाने के कई अवसर मिले। इस कठिन समय में उनके परिवार, दोस्तों और अनगिनत प्रशंसकों के प्रति संवेदना। ओम शांति।
और भी

नयी सरकार पहले से तेज गति से देश के विकास के लिए काम करेगी: मोदी

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) संसदीय दल का नेता चुने जाने पर गठबंधन के नेताओं के प्रति आभार व्यक्त करते हुए आश्वासन दिया कि वह नए दायित्व को पूरा करेंगे और नयी सरकार पहले से तेज गति से देश के विकास के लिए काम करेगी।

 

लोकसभा के लिए नवनिर्वाचित राजग के सदस्यों और घटक दलों के प्रमुख नेताओं की संविधान सदन में आयोजित बैठक में श्री मोदी को सर्वसम्मति से राजग नेता के लिए लगातार तीसरे बार चुना गया।

इस दौरान श्री मोदी ने 18वीं लोकसभा के चुनाव में राजग की सफलता को महासफलता करार दिया और राजग गठबंधन को अब तक का सबसे सफल गठबंधन बताया। उन्होंने कहा कि विपक्ष ने चुनाव के दौरान देश में लोगों को बांटने का प्रयास किया और मतदान खत्म होने और नतीजे आने के बाद निराधार बातें फैलाकर देश में आग लगाने का वातावरण बनाने का प्रयास दिया। उन्होंने जीत के बाद पिछले चार दिन के दौरान राजग के सदस्यों के आचरण की सराहना की और कहा, हम जीत का पचाना जानते हैं। हमारे संस्कार में है कि हम हारे हुए का उपहास नहीं करते हैं।

श्री मोदी ने इस जीत का श्रेय पार्टी कार्यकर्ताओं की अथक मेहनत को देते हुए कहा, पार्टी के लिए लाखों ने भीषण गर्मी के दौरान जिस तरह से दिन-रात काम किया और इसके लिए मैं उनको कोटि-कोटि नमन करता हूं।

उन्होंने कहा कि राजग कोई सरकार बनाने या सरकार चलाने के लिए कुछ दलों का जमावड़ा नहीं है। इस दौरान उन्होंने एनडीए (राजग) की नयी परिभाषा दी और कहा, एनडीए का मतलब न्यू इंडिया (नया भारत) डेवल्प इंडिया (विकसित भारत) और एस्पिरेशनल इंडिया (आकांक्षी भारत) है।

और भी

चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर कंगना को महिला सिपाही ने मारा थप्पड़

 चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर सीआईएसएफ की कुलविंदर कौर पर कंगना को थप्पड़ मारने का आरोप है। यह मामला गुरुवार दोपहर लगभग 3:40 बजे  की है जब वह चंडीगढ़ से दिल्ली वापस जा रही थीं। बताया जा रहा है कि महिला सिपाही इस बात पर नाराज थी की कंगना ने किसानों जो बयान दिए थे उससे वह सहमत नहीं थी ।

 
सूत्रों के अनुसार कंगना रनौत चंडीगढ़ से मुंबई के लिए शहीद भगत सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट से जब चैकिंग कर रही थीं तो वहां उपस्थित सीआईएसएफ में तैनात महिला सुरक्षा कर्मी ने जब उनसे पूछा कि मैडम आप बीजेपी से जीती हैं। आपकी पार्टी किसानों के लिए कुछ क्यों नहीं कर रही। इसको लेकर बहस हो गई। इसके बाद आरोप लग रहे है कि सीआईएसएफ की महिला कर्मी ने उन्हें थप्पड़ लगा दिया। हालांकि एयरपोर्ट से सीईओ की ओर से जानकारी जुटाई जा रही है।
 
लोकसभा चुनाव में हिमाचल प्रदेश की मंडी सीट पर भाजपा प्रत्याशी बॉलीवुड क्वीन कंगना रणौत के सिर जीत का ताज सजा है। कंगना ने मंडी की बाजी मार ली, वहीं कांग्रेस प्रत्याशी विक्रमादित्य सिंह को हार का सामना करना पड़ा है। संसदीय क्षेत्र मंडी के चुनावी रण में 10 प्रत्याशी उतरे थे। मंडी सीट पर देशभर की नजरें लगी हुई थीं। मुख्य मुकाबला कंगना और विक्रमादित्य सिंह के बीच ही रहा। कंगना ने कुल 5,37,022 वोट हासिल किए।
और भी

मणिशंकर अय्यर का बयान शहीद सैनिकों का अपमान : गौरव भाटिया

 नई दिल्ली: कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के बयान को भारत के शहीद सैनिकों का अपमान बताते हुए भाजपा ने गांधी परिवार और कांग्रेस की जमकर आलोचना की है। भाजपा राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने पार्टी मुख्यालय में मीडिया से बात करते हुए कहा कि एक तरफ जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जनता के सामने अपना रिपोर्ट कार्ड रख रहे हैं और 400 पार के आंकड़ों के साथ एनडीए गठबंधन फिर से सरकार बनाने जा रहा है, वहीं दूसरी तरफ इसके ठीक विपरीत कांग्रेस के नेता मणिशंकर अय्यर जनता की भावना को ठेस पहुंचाने वाले बयान दे रहे हैं।

भाटिया ने कहा कि मणिशंकर अय्यर कह रहे हैं कि चीन ने 1962 में कथित तौर पर भारत पर आक्रमण किया और उनका यह बयान भारत की शान और तिरंगे की खातिर अपनी जान कुर्बान करने वाले बहादुर वीर सैनिकों का अपमान है। यह भारत की एकता और अखंडता पर चोट है।

उन्होंने कहा कि 1962 में चीन के हमले में हमारे बहादुर सैनिकों ने शहादत दी और जख्मी हुए लेकिन मणिशंकर अय्यर कह रहे हैं कि कथित तौर पर हमला हुआ। गौरव भाटिया ने अय्यर के बयान के लिए राहुल गांधी को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि इस तरह के बयान भले ही मणिशंकर अय्यर दे रहे हों, लेकिन इसके पीछे की सोच राहुल गांधी की है। अय्यर ने कुछ दिन पहले कहा था कि पाकिस्तान के पास परमाणु बम है और अब उनका चीन को लेकर यह बयान सामने आ गया है।

भाजपा प्रवक्ता ने पूछा कि आखिर कांग्रेस की तरफ से इन दोनों देशों को सिग्नल क्यों दिए जा रहे हैं। देश की जनता भारत विरोधी टावर को ही उखाड़ने जा रही है। बताया जा रहा है कि चुनावी माहौल में विवाद बढ़ने के बाद कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने 1962 में चीन द्वारा भारत पर किए गए हमले के लिए कथित शब्द का इस्तेमाल करने पर माफी तो मांग ली है लेकिन भाजपा कांग्रेस की पिछली सरकारों के रवैये का हवाला देते हुए इस मुद्दे को छोड़ने को तैयार नहीं है।

हालांकि कांग्रेस पार्टी ने खुद को मणिशंकर अय्यर के विवादित बयान से अलग कर लिया है। इस बयान के तूल पकड़ने के बाद मणिशंकर अय्यर ने भी 'कथित आक्रमण' वाले अपने बयान को लेकर माफी मांगी है। कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने इस मसले पर कहा कि मणिशंकर अय्यर ने बाद में गलती से 'कथित आक्रमण' शब्द का उपयोग करने के लिए बिना शर्त माफी मांगी है।

आपको याद दिला दें कि मणिशंकर अय्यर अतीत में भी अपने कई बयानों के जरिए कांग्रेस के लिए राजनीतिक परेशानी खड़ी करते रहे हैं।

और भी

जल्द मिलेगी गर्मी से राहत : 24 घंटे में केरल पहुंच सकता है मानसून

नई दिल्ली: देशभर में भीषण गर्मी पड़ रही है। राजस्थान समेत कई राज्यों में तापामान 49 डिग्री तक पहुंच चुका है। देशवासी मानसून का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। इसी बीच भारतीय मौसम विभाग ने बारिश को लेकर पूर्वानुमान जताया है।


आईएमडी ने जानकारी दी कि 30 मई को दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब सहित राजस्थान सहित बारिश हो सकती है। वहीं, आईएमडी के अनुसार, वरिष्ठ वैज्ञानिक नरेश कुमार ने कहा, मानसून के लिए अनुकूल परिस्थितियां हैं। हमारा अनुमान है कि आने वाले 24 घंटे में मानसून केरल में आ सकता है।

इन राज्यों में हीटेवेव को लेकर अलर्ट
हालांकि, मौसम विभाग ने हीटवेव को लेकर कई राज्यों में अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक नरेश कुमार ने जानकारी दी कि अगले दो दिनों के लिए बिहार, झारखंड और ओडिशा के लिए हीटवेव से गंभीर हीटवेव अलर्ट जारी किया गया है। 3 दिनों के बाद बंगाल की खाड़ी से जब वहां नमी आएगी तो हालातों में सुधार होगा।

वहीं, 2024 पंजाब, हरियाणा-चंडीगढ़-दिल्ली के कुछ हिस्सों में 31 मई तक हीटवेव को लेकर अलर्ट जारी किया गया है।  

असम और मेघालय में आज से लेकर 2 जून तक भारी से बहुत भारी और अत्यंत भारी वर्षा की उम्मीद जताई गई है।

 

 

और भी

गर्मी से बेहोश हुए 41 बच्चे, 45 डिग्री तापमान में चल रही थी क्लास...

पटना: बिहार के बेगूसराय, मुंगेर, शेखपुरा, जमुई, लखीसराय, गोपालगंज और बांका सरकारी स्कूलों में भीषण गर्मी के कारण छात्र, छात्राएं, शिक्षक, प्रधानाध्यापिका और रसोइया समेत 95 लोग बेहोश हो गए। इन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। सबसे अधिक बेगूसराय में 41 और जमुई में बच्चे और शिक्षक बीमार पड़ें हैं। घटना के बाद परिजनों में आक्रोश है। अभिभावकों का कहना है कि भीषण गर्मी में भी बच्चों को छुट्टी नहीं दी गई है। शिकायत करने पर कहा जाता है कि शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक ने स्कूल को बंद करने का आदेश नहीं दिया है। अभिभावकों का कहना है कि 42 से 45 डिग्री तापमान के कारण बच्चे स्कूल में ही बीमार पड़ रहे हैं।

बेगूसराय में बढ़ते गर्मी के बीच अलग-अलग स्कूलों में पढ़ रहे 41 से अधिक बच्चे बेहोश हो गए। बेहोशी के हालात में छात्र और छात्राओं को उसे जगह से उठाकर इलाज के लिए पीएचसी में भर्ती कराया गया। जहां सभी  का इलाज चल रहा है। शेखपुरा के एक स्कूल में लू के कारण कई छात्र बेहोश हो गए। सभी छात्रों के अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। बताया जा रहा है कि मनकौल गांव के हाई स्कूल में एक के बाद एक 13 से अधिक बच्चे बेहोश होने लगे। आननफानन में उन्हें शिक्षकों ने स्थानीय लोगों की मदद से अस्पताल में भर्ती करवाया। वहीं मुंगेर के धरहरा प्रखंड के तीन स्कूलों पांच छात्र बेहोश हो गए। इतना ही नहीं उच्च विद्यालय हेमराजपुर में परीक्षा के दौरान एक शिक्षक भी बेहोश हो गए।


बांका समेत इन जिलों के स्कूल में भी बच्चे बेहोश
बांका जिले के शंभूगंज के मिर्जापुर पंचायत स्थित प्रोन्नत मध्य विद्यालय में खाना बनाने के दौरान रसोइया बेहोश होकर जमीन पर गिर गई। गोपालगंज उचकागांव प्रखंड क्षेत्र के तीन अलग-अलग विद्यालयों के 11 छात्र बुधवार के दिन अचानक विद्यालय में अचेत होकर जमीन पर गिर पड़े। जिन्हें शिक्षकों एवं छात्रों की मदद से किसी तरह से होश में लाने के बाद छात्रों के सहयोग से उन्हें घर भेज दिया गया। वहीं लखीसराय जिले के बड़हिया प्रखंड स्थित प्राथमिक विद्यालय कमरपुर में 4 छात्र व एक रसोईया बेहोश हुईं। मुजफ्फरपुर के सरैया प्रखंड क्षेत्र के बसंतपुर पट्टी स्कूल में तीन छात्रा गर्मी से बेहोश हो गईं। घटना के बाद परिजनों में आक्रोश है।

जमुई में विद्यालय प्रधान समेत तीन शिक्षक बेहोश
वहीं जमुई के उत्क्रमित विद्यालय में तीन बच्चे, नर्बदा उत्क्रमित मध्य विद्यालय में एक बच्चे, बरहट प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय चौहानगढ़ में दो, कन्या मध्य विद्यालय मलयपुर में आठ बच्ची व दो शिक्षक, उत्क्रमित मध्य विद्यालय नरसोता में एक बच्ची तथा लक्ष्मीपुर प्रखंड अंतर्गत मकतब स्कूल मटिया के दो बच्चे बेहोश होकर जमीन पर गिर गए। जहां आननफानन में स्कूल के शिक्षकों ने बच्चे को क्लास रूम में बेंच पर सुलाकर होश में लाया गया और इसकी सूचना बच्चे के अभिभावक को दी गई। जिसके बाद अभिभावक बच्चे को अपने साथ ले गए। वहीं लक्ष्मीपुर प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय छप्परघुट्टो की प्रधनाध्यापिका मेरीगोरेटी सोरेन की भी तबीयत बिगड़ गई जिससे बेहोश होकर जमीन पर गिर गई। हालांकि लक्ष्मीपुर के अलावा जमुई सदर में एक शिक्षक, झाझा में दो शिक्षक के बेहोश होने की सूचना है।

भीषण गर्मी के कारण लोग परेशान हो रहे
इस भीषण गर्मी के कारण मटिहानी मध्य विद्यालय में एक दर्जन से अधिक छात्राएं बेहोश होकर स्कूल में ही गिर गई। इसके बाद आननफानन में स्कूल के शिक्षकों ने उसे जगह से उठाकर इलाज के लिए मटिहानी पीएससी में भर्ती कराया। इनका इलाज जारी है। शिक्षकों ने बताया है कि भीषण गर्मी में सुबह 6:00 बजे से ही विद्यालय संचालित होता है। और इस समय भीषण गर्मी पड़ रही है। इस भीषण गर्मी के कारण लोग परेशान हो रहे हैं। दूसरी तरफ विद्यालय में पढ़ रहे हैं। छात्र एवं छात्रा बेहोश होकर नीचे गिर रहे हैं।

और भी

चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद रॉक मेमोरियल में ध्यान लगाएंगे पीएम मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 मई को लोकसभा चुनाव प्रचार के समाप्त होने के बाद कन्याकुमारी का दौरा करेंगे। यहां वे स्वामी विवेकानंद को श्रद्धांजलि देने के लिए बनाए गए स्मारक रॉक मेमोरियल में ध्यान लगाएंगे। भाजपा नेताओं ने मंगलवार को बताया कि वह 30 मई की शाम से 1 जून की शाम तक ध्यान मंडपम में ध्यान करेंगे। माना जाता है कि यहां विवेकानंद को 'भारत माता' के बारे में दिव्य दृष्टि प्राप्त हुई थी। प्रधानमंत्री ने 2019 के चुनाव अभियान के बाद केदारनाथ गुफा में इसी तरह का ध्यान लगाया था।

और भी

4 जून के बाद भ्रष्टाचारियों पर कार्रवाई और तेज होगी : मोदी

दुमका: झारखंड के दुमका में एक जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 4 जून के बाद भ्रष्टाचारियों पर कार्रवाई और तेज होगी, ये मोदी की गारंटी है।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा जेएमएम और कांग्रेस वालों के यहां नोटों के पहाड़ पकड़े जा रहे हैं। आप जानते हैं, ये पैसा कहां से आ रहा है? ये पैसा आ रहा है शराब के घोटाले से, ये पैसा आ रहा है करोड़ों रुपयों के टेंडर के घोटाले से, ये पैसा आ रहा है खान-खनिज-खनन घोटाले से।

न लोगों ने जमीनें हड़पने के लिए अपने माता-पिता का नाम बदल दिया। अब गरीबों और आदिवासियों की जमीन पर कब्जा किया जा रहा है। इन लोगों ने तो सेना की जमीन को भी लूट लिया। आपको झारखंड को इन लोगों से मुक्ति दिलानी ही होगी। 

नरेंद्र मोदी ने कहा जेएमएम और कांग्रेस झारखंड को हर तरह से लूट रहे हैं। यहां इतने खूबसूरत पहाड़ है, लेकिन झारखंड की चर्चा नोटों के पहाड़ के लिए हो रही है।JMM, कांग्रेस, RJD खुले आम बेशर्मी के साथ धमकी दे रहे हैं, वो कहते हैं कि मोदी को हटाना है, वे ऐसा क्यों कह रहे है? ताकि फिर से उनको घोटाले करने का मौका मिल सके।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 2014 में आपने मोदी को आशीर्वाद दिया था तब पूरा देश कांग्रेस के कुशासन से तंग आ चुका था। आप याद करें 2014 में मोदी के आने से पहले रोज-रोज घोटाले होते थे। कांग्रेस गरीबों के नाम पर पैसे लूटती थी। मोदी ने वो सब बंद कर दिया। जनता का पैसा आज जनता के हित में इस्तेमाल हो रहा है।

और भी

'रेमल' ने असम में मचाई तबाही : भारी बारिश से कई इलाकों में जलभराव

गुवाहाटी: चक्रवात रेमल ने आज मंगलवार को असम में तबाही मचा दी। चक्रवात के कारण उत्पन्न गंभीर मौसम के कारण कई पेड़ उखड़ गए। बिजली के खंभे भी प्रभावित हुए। बता दें कि असम में मूसलाधार बारिश और तेज हवाएं चल रही हैं। चिरांग, गोआलपाड़ा, बक्‍सा, दिमा हसाओ, कछार, हैलाकंडी और करीमगंज जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है। ढुबरी, दक्षिण सालमारा, बोंगाईगांव, बजाली, तुमुलपुर, बारपेटा, नलबाड़ी, मोरीगांव, नागांव, होजाई और पश्चिम कार्बी आंगलोंग जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।


लगातार बारिश और तेज हवाओं के कारण कल शाम से गुवाहाटी सहित अधिकतर प्रभावित जिलों में बिजली आपूर्ति प्रभावित हुई है। कई जिलों में प्रशासन ने आज एहतियात के तौर पर स्‍कूल बन्‍द कर दिए हैं। पूर्वोत्‍तर फ्रंटियर रेलवे ने भी कई रेलगाड़ियां रद्द कर दी हैं। असम राज्‍य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) ने सभी जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) को स्थिति की समीक्षा करने के निर्देश दिए हैं। ब्रह्मपुत्र नदी के मुख्‍य क्षेत्र विशेषकर ढुबरी, गोआलपाडा, दक्षिण सालमारा-मंकाचार, बोंगाईगांव और बारपेटा जिलों में आवश्‍यकतानुसार नावें चलाई जा सकती हैं। बाराक घाटी जिलों की बाराक और कुसियारा नदियों में भी नावें चलाई जा सकती हैं।

राज्‍य सरकार ने चक्रवाती तूफान रेमल के कारण बारिश और तेज हवाओं को ध्‍यान में रखते हुए सभी नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए व्‍यापक प्रबंध किए हैं। राष्‍ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और राज्‍य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) तैनात हैं। नियंत्रण कक्ष भी स्‍थापित किये गये हैं। लोगों को स्‍थानीय प्रशासन के साथ सहयोग करने को कहा जा रहा है। मौसम विभाग ने आज गोआलपाड़ा, दिमा हसाओ, कछार और करीमगंज जिलों में तेज बारिश होने का अनुमान व्‍यक्‍त किया है।

 

 

और भी

पटरी से उतरी लोकल ट्रेन, घंटों बाधित रही आवाजाही

कोलकाता: बंगाल के हावड़ा जिले के लिलुआ स्टेशन पर एक खाली लोकल ट्रेन पटरी से उतर गई, जिसकी वजह से ट्रेनों की आवाजाही बाधित हो गई। अधिकारियों ने जानकारी दी कि यह घटना लगभग सुबह 07:05 बजे घटी, जब ट्रेन को डाउन मेन लाइन से रिवर्सेबल लाइन पर ले जाया जा रहा था। गनीमत रही कि इस घटना में किसी के घायल होने की खबर नहीं है।


पटरी से उतरने के कारण डाउन मुख्य लाइन अवरुद्ध हो गई और अप मुख्य लाइन प्रभावित हुई, जिससे हावड़ा-बैंडेल मुख्य लाइन पर ट्रेनों की आवाजाही बाधित हो गई। एक अधिकारी ने बताया कि तत्काल कार्रवाई की गई और हावड़ा से दुर्घटना राहत ट्रेन (एआरटी) को सुबह 7:10 बजे घटनास्थल पर बुलाया गया।

पूर्वी रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी कौशिक मित्रा ने कहा,”जल्द से जल्द सामान्य स्थिति बहाल करने के प्रयास जारी हैं, और पटरी से उतरने का कारण निर्धारित करने के लिए एक विस्तृत जांच की जाएगी। यात्रियों और रेलवे कर्मियों की सुरक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है और स्थिति से निपटने के लिए सभी आवश्यक उपाय किए जा रहे हैं।”

ट्रेनों की आवाजाही फिर से शुरू
डाउन मेन लाइन पर ट्रेनों की आवाजाही 08:18 बजे फिर से शुरू हुई। कौशिक मित्रा ने कहा,”अप मेन लाइन पर ट्रेनों को वर्तमान में हावड़ा से अप हावड़ा-बर्धमान कॉर्ड लाइन के माध्यम से डायवर्ट किया जा रहा है और बेलूर में अप मेन लाइन पर पुनर्निर्देशित किया जाता है।”

 

 

और भी

राहुल के चढ़ते ही इंडी गठबंधन की जनसभा का मंच धंसा...

पटना: पटना के पालीगंज में राहुल गांधी की जनसभा के दौरान अचानक मंच का एक हिस्सा धंस गया। राहुल गांधी जैसे ही मंच पहुंचे, वैसे ही मंच धंस गया। मंच पर इंडी गठबंधन के नेता भी मौजूद थे। हालांकि, समय रहते राजद प्रत्याशी मीसा भारती और उनके अंगरक्षकों ने उन्हें संभाल लिया। इसके बाद राहुल गांधी ने कहा कि मैं बिल्कुल ठीक हूं।  


राहुल गांधी ने पालीगंज की सभा में पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी से एक इंटरव्यू में पूछा गया कि देश में गरीब और गरीब, अमीर और अमीर होते जा रहे हैं। इस बारे में आपका क्या कहना है? नरेंद्र मोदी पहले सोचतें हैं और फिर जवाब देते हैं- क्या मैं सबको गरीब बना दूं? यह पीएम नरेंद्र मोदी की सोच है। देश के गरीबों के लिए नरेंद्र मोदी ने पिछले 10 साल में कुछ नहीं किया। आपने टीवी पर किसी गरीब किसान, मजदूर, युवा के साथ पीएम मोदी को देखा है क्या? लेकिन, अंबानी की शादी में जरूर देखा होगा। 10 करोड़ की घड़ी के साथ देखा होगा। अदाणी के साथ गले मिलते हुए देखा होगा।  

राहुल गांधी ने कहा कि जैसे ही हमारी सरकार बनेगी महालक्ष्मी योजना पर काम शुरू हो जाएगा। हर गरीब परिवार की लिस्ट बनेगी और एक महिला का नाम चुना जाएगा। करोड़ों महिला आठ हजार रुपया अकाउंट में मिलेगा। करोड़ों लोगों के अकाउंट में पैसा जाएगा।पीएम मोदी पर हमला बोलते कहा कि ईडी से बचने के लिए कहते हैं बड़े-बड़े फैसले मैं नहीं, परमात्मा लेते हैं। मोदी जी आप लंबे-लंबे भाषण देना बंद कीजिए आप देश को बांटने की कोशिश मत करिए। आप सबसे पहले देश और बिहार के युवाओं को ये बताइए कि आपने देश के युवाओं को कितना रोजगार दिया कितनी नौकरियां दीं?
 
पीएम मोदी ने अरबपतियों की जेब में पैसा डाला
राहुल गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने अरबपतियों की जेब में पैसा डाला। अरबपतियों ने इस पैसे से विदेशों में बिजनेस किया। देश की अर्थव्यवस्था को कोई फायदा नहीं हुआ। जब हम गरीबों को पैसा देंगे तो वे लोग अपने गांव-शहर में यह पैसा खर्च करेंगे। सामान की डिमांड बढ़ेगी तो बंद फैक्ट्रियां चालू हो जाएंगी। फिर उन्हीं फैक्ट्रियों में हिंदुस्तान के युवाओं को रोजगार मिलेगा। इससे देश का विकास होगा।
 

 

और भी

मेरठ से सपा विधायक रफीक अंसारी लखनऊ में गिरफ्तार

 लखनऊ: इलाहाबाद हाईकोर्ट से गैर जमानती वारंट के मामले में समाजवादी पार्टी के विधायक रफीक अंसारी को लखनऊ से गिरफ्तार कर लिया गया है। एसएसपी ने सीओ सिविल लाइन के नेतृत्व में उनकी गिरफ्तारी के लिए टीम गठित कर दी थी। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट, एमपी- एमएलए मेरठ की अदालत से आईपीसी की धारा 147, 436 और 427 के तहत विचाराधीन आपराधिक मुकदमे में विधायक रफीक अंसारी के खिलाफ जारी वारंट को चुनौती दी गई थी।

मुकदमे में सितंबर 1995 में 35-40 अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी। 22 आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र प्रस्तुत किया गया। उसके बाद याची के खिलाफ एक पूरक आरोप पत्र प्रस्तुत किया गया, जिस पर संबंधित अदालत ने अगस्त 1997 में संज्ञान लिया था। रफीक अंसारी अदालत में पेश नहीं हुए थे।

12 दिसंबर 1997 को गैर-जमानती वारंट जारी हो गया था। इसके बाद बार-बार 101 गैर-जमानती वारंट जारी हो गए। धारा 82 सीआरपीसी के तहत कुर्की प्रक्रिया के बावजूद रफीक अंसारी अदालत में पेश नहीं हुए और हाईकोर्ट चले गए।

उनके वकील ने तर्क दिया था कि 22 आरोपियों को 15 मई 1997 के फैसले में बरी कर दिया गया। ऐसे में विधायक के खिलाफ कार्रवाई रद होनी चाहिए। वहीं, कोर्ट ने इस मामले में डीजीपी को निर्देश दिए थे कि रफीक अंसारी के खिलाफ ट्रायल कोर्ट द्वारा जारी किए गए गैर- जमानती वारंट की तामील सुनिश्चित करें।

और भी

केजरीवाल की सुप्रीम कोर्ट से गुजारिश- 7 दिन बढ़ा दें अंतरिम बेल

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सुप्रीम कोर्ट के सामने एक नई याचिका दायर की है। इस याचिका में उन्होंने अपनी अंतरिम जमानत को और 7 दिनों तक बढ़ाए जाने की मांग की है। आम आदमी पार्टी ने यह दावा किया है कि जेल जाने के बाद अब तक अरविंद केजरीवाल का 7 किलो वजन कम हो चुका है। इसके अलावा केजरीवाल का कीटोन लेवल भी काफी ऊंचा है। आपको बता दें कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिल्ली शराब घोटाला मामले में न्यायिक हिरासत में थे। सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें 10 मई को लोकसभा चुनाव प्रचार के लिए अंतरिम बेल दी थी जिसकी अवधि 1 जून को समाप्त हो जाएगी।

 

 

और भी

बंगाल में चक्रवाती तूफान रेमल का कहर, तेज बारिश

नई दिल्ली: चक्रवाती तूफान रेमल का कहर पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों पर दिखाई देने लगा है। लैंडफॉल की प्रक्रिया आधी रात से शुरू हो चुकी है। इस दौरान समुद्र में चक्रवाती तूफान की अधिकतम रफ्तार 135 किमी प्रतिघंटा दर्ज की गई। इसके प्रभाव से पश्चिम बंगाल में खूब बर्बादी देखने को मिल रही है। इसका असर बीरभूम, पूर्वी बर्धमान, नदिया, पूर्वी मेदिनीपुर, बांकुड़ा, दक्षिण 24 परगना, उत्तर 24 परगना, कोलकाता, बिधाननगर के अलग-अलग इलाकों में देखने को मिल रहा है।

सुंदरबन में तबाही

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना में बीती रात चक्रवात रेमल ने खूब तबाही मचाई। सुंदरबन में आज सुबह कई पेड़ गिरे हुए पाए गए।

 

 

और भी

राजकोट अग्निकांड : अब भी एक परिवार के 5 लोग लापता

28 लोगों की हो चुकी है मौत

राजकोट: राजकोट अग्निकांड में अब तक 28 लोगों की जान जा चुकी है। इसमें कई बच्चे भी शामिल हैं। शनिवार को इस खौफनाक मंजर से रूबरू होने वाले एक प्रत्यक्षदर्शी ने पूरे हादसे की आंखोदेखी कहानी बताई, कि कैसे 5 मिनट के अंदर सामान्य सी आग आसमान छूने लगी। वहां पास में मौजूद चाय बेचने वाले  महेश भरवाड़ ने बताया कि आग इतनी तेजी से फैली कि लोगों में अफरा तफरी मच गई। महेश भरवाड़ ने बताया कि जब आग लगी तब मैं गेमिंग जोन के पास ही मौजूद था। मैं बगल में चाय देने आया था। उस वक्त अचानक कुछ ब्लास्ट होने की आवाज आयी थी। शुरुआत में शाम के वक्त 5.35 बजे आग लगी। तब सामान्य सी दिखायी देने वाली आग पांच मिनट में विकराल हो गई। आग लगने की वजह से कुछ लोग एल्युमीनियम शेड के ऊपर से बाहर की तरफ उतरने की कोशिश कर रहे थे। महेश ने बताया कि उस वक्त कुछ लोगों को हमनें बाहर उतारने की कोशिश की। लेकिन ऊंचाई ज्यादा होने से तीन लोग घायल हो गए। इनमें से एक के सिर पर ज्यादा चोट लगी थी।  

एक ही परिवार के पांच लोग लापता

इधर, गेमिंग जोन में आग लगने के बाद एक ही परिवार के सात लोगों में से पांच लोग मिसिंग हैं। परिवार के मुखिया चंद्रसिंह जडेजा ने कहा कि मेरे परिवार के सात लोग गेमिंग जोन में मौजूद थे। इनमें से दो सुरक्षित हैं। एक का गिरिराज हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है और एक पूरी तरह सुरक्षित हैं। इस घटना के बाद परिवार के पांच लोग मिसिंग हैं। हमारे परिवार के लोगो के DNA सैंपल कलेक्ट किए गए हैं।

 

 

और भी
Previous123456789...122123Next