हिंदुस्तान

किसानों को सरकार ने दिया ये बड़ा तोहफा

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने किसानों के लिए किसान ऋण पोर्टल लॉन्च किया है। इस पोर्टल के माध्यम से किसान आसानी से किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसमें किसानों को सब्सिडी के साथ लोन की सुविधा मिलती है. इस पोर्टल का उद्देश्य यह है कि किसान अब बैंकों से सस्ती ब्याज दरों पर ऋण ले सकें। कई किसान खेती के लिए साहूकारों से कर्ज लेते हैं। पीएम किसान लाभार्थी को किसान क्रेडिट कार्ड का भी लाभ मिलता है।

केंद्र सरकार 1 अक्टूबर 2023 से घर-घर किसान क्रेडिट कार्ड पहुंचाने का अभियान शुरू कर रही है। यह अभियान इस साल के अंत यानी 31 दिसंबर 2023 तक चलेगा। यह अभियान फिजिकल के साथ डिजिटली भी चलाया जाएगा। इस अभियान को सफल बनाने के लिए बैंक, पंचायत और जिला प्रशासन मिलकर काम करेंगे। इसके अलावा पीएम किसान (PM किसान सम्मान निधि योजना) के लाभार्थी को अगले तीन महीने में किसान क्रेडिट कार्ड मिल जाएगा।

किसान क्रेडिट कार्ड क्या है?

सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड की शुरुआत साल 1998 में की थी. इसमें किसानों को 4 फीसदी की ब्याज दर पर लोन मिलता है. इसे अन्य लोन की तुलना में काफी सस्ता माना जाता है. देश के सभी किसान इस कार्ड के लिए पात्र हैं। यह योजना भारत सरकार, भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) और नाबार्ड द्वारा शुरू की गई थी।

कब आएगी पीएम किसान की 15वीं किस्त?

देश के सभी किसान अब 15वीं किस्त का इंतजार कर रहे हैं। आपको बता दें कि पीएम किसान योजना के तहत किसानों को सालाना 6,000 रुपये की रकम मिलती है। यह रकम किश्तों के रूप में दी जाती है। हर किस्त में किसानों को 2,000 रुपये की रकम दी जाती है। अब कई मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक किसानों को 15वीं किस्त अक्टूबर में मिल सकती है। इस योजना में किस्त की रकम सीधे किसानों के खाते में आती है।

और भी

आंध्र में नायडू की गिरफ्तारी के खिलाफ टीडीपी ने निकाली पदयात्रा

अमरावती: तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एन. चंद्रबाबू नायडू की गिरफ्तारी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुए पार्टी विधायकों ने सत्र के पहले दिन गुरुवार को राज्य विधानमंडल तक पदयात्रा निकाली। वेंकटपालम में टीडीपी संस्थापक और पूर्व मुख्यमंत्री एन. टी. रामा राव की प्रतिमा पर श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद, टीडीपी विधायक और एमएलसी विधान भवन के लिए रवाना हुए।

विधायकों ने थुल्लूर पुलिस स्टेशन से पदयात्रा निकाली। हाथों में तख्तियां लिए हुए, उन्होंने कथित कौशल विकास मामले में नायडू की 'अवैध' गिरफ्तारी की निंदा करते हुए नारे लगाए। विधायकों ने मांग की कि वाईएसआरसीपी सरकार पूर्व मुख्यमंत्री की अवैध गिरफ्तारी के लिए माफी मांगे। उन्होंने कहा कि अगर सरकार अवैध मुकदमे वापस लेने में विफल रही तो वे बड़े पैमाने पर अभियान चलाएंगे।

टीडीपी विधायक और लोकप्रिय अभिनेता एन. बालकृष्ण ने कहा कि वे नायडू की गिरफ्तारी के मुद्दे को जनता की अदालत में ले जाएंगे। उन्होंने दावा किया कि लोग टीडीपी के साथ हैं। बालकृष्ण, जो नायडू के बहनोई भी हैं, ने कहा, सरकार टीडीपी को मिल रहे भारी जन समर्थन को देखने में असमर्थ है और इसलिए उसने अवैध गिरफ्तारी का सहारा लिया।

यह कहते हुए कि टीडीपी गिरफ्तारियों से डरी नहीं है, बालकृष्ण ने कहा कि वे इस मुद्दे को लोगों की अदालत में ले जाएंगे। टीडीपी की आंध्र प्रदेश राज्य इकाई के अध्यक्ष के. अत्चन्नायडू ने कहा कि वे नायडू की गिरफ्तारी का मुद्दा राज्य विधानमंडल के दोनों सदनों में उठाएंगे। उन्होंने कहा कि वे नायडू की गिरफ्तारी पर लाए जाने वाले स्थगन प्रस्ताव पर बहस के लिए दबाव डालेंगे।

पूर्व मुख्यमंत्री को सीआईडी ने कथित कौशल विकास घोटाले में 9 सितंबर को गिरफ्तार किया था। वह फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं।

और भी

कनाडा बना वांछित भारतीय गैंगस्टरों के लिए सुरक्षित पनाहगाह

नई दिल्ली: पिछले साल मई में लोकप्रिय पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की नृशंस हत्या के बाद दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल सहित सुरक्षा एजेंसियों ने कनाडा के खालिस्तानी आतंकवादियों और भारत में विभिन्न आपराधों में शामिल गैंगस्टरों के लिए एक सुरक्षित स्वर्ग के रूप में उभरने पर चिंता जताई है।

सूत्रों ने बताया कि कनाडा में रहने वाले गैंगस्टर भारत में आपराधिक गतिविधियों पर खासा प्रभाव डालते हैं। हाल ही में अहमदाबाद में एक सार्वजनिक सभा में पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कनाडा में एक बड़े गैंगस्टर की संभावित हिरासत का संकेत दिया था, हालांकि यह रहस्योद्घाटन केंद्रीय एजेंसियों द्वारा असत्यापित है।

सूत्रों ने बताया कि विचाराधीन व्यक्ति कोई और नहीं, बल्कि सतिंदरजीत सिंह है, जिसे गोल्डी बराड़ के नाम से जाना जाता है। वह लोकप्रिय पंजाबी गायक शुभदीप सिंह सिद्धू, जो सिद्धू मूसेवाला के नाम से मशहूर है, की हत्या का कथित मास्टरमाइंड है। यह मामला पंजाब और कनाडा में आपराधिक गतिविधियों के बीच संबंध के सिर्फ एक पहलू का प्रतिनिधित्व करता है।

मूसेवाला की हत्या के अलावा, ऐसा प्रतीत होता है कि 2022 में मोहाली में पंजाब पुलिस के खुफिया मुख्यालय पर साहसी आरपीजी हमले में कनाडा स्थित पंजाबी गैंगस्टरों का हाथ हो सकता है। 2018 में कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो की अमृतसर यात्रा के दौरान पंजाब के तत्कालीन मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कथित तौर पर इस बात पर चिंता जताई थी कि कैसे कनाडाई क्षेत्र का भारत के हितों के खिलाफ शोषण किया जा रहा है।

हालांकि, इन चिंताओं के जवाब में कनाडाई सरकार द्वारा कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई। कई महीने पहले, पंजाब पुलिस ने कनाडा से लंबे समय से काम कर रहे सात गैंगस्टरों की पहचान की थी। सूची में लखबीर सिंह उर्फ लांडा, गोल्डी बराड़, चरणजीत सिंह उर्फ रिंकू रंधावा, अर्शदीप सिंह उर्फ अर्श डाला, रमनदीप सिंह उर्फ रमन जज, गुरपिंदर सिंह उर्फ बाबा दल्ला और सुखदुल सिंह उर्फ सुखा दुनेके शामिल हैं।

माना जाता है कि ये लोग पंजाब में विभिन्न आपराधिक गतिविधियों से जुड़े हुए हैं। इसके अलावा, राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने खालिस्तान टाइगर फोर्स के प्रमुख हरदीप सिंह निज्जर, एक कनाडाई नागरिक, जिसे 18 जून को ब्रिटिश कोलंबिया के सरे में गोली मार दी गई थी, को पकड़ने के लिए सूचना देने के लिए 10 लाख रुपये के इनाम की घोषणा की थी।

 

 

और भी

महिला आरक्षण विधेयक पर सोनिया गांधी लोकसभा में कांग्रेस का नेतृत्व करेंगी

नई दिल्ली: कांग्रेस संसदीय दल (सीपीपी) की अध्यक्ष सोनिया गांधी लोकसभा में महिला आरक्षण विधेयक पर बहस का नेतृत्व करेंगी। सूत्रों ने कहा कि सोनिया गांधी लंबे समय से प्रतीक्षित इस विधेयक पर पार्टी का नेतृत्व करेंगी और वह इस पर बहस के लिए कांग्रेस की मुख्य वक्ता होंगी। मंगलवार सुबह संसद पहुंचीं सोनिया गांधी से जब सरकार द्वारा लोकसभा में विधेयक लाए जाने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, यह हमारा है, अपना है। पहले हमने ही यह विधेयक लाया था, जो राज्‍यसभा में पास हो गया, लेकिन लोकसभा में अटक गया था।

संविधान (एक सौ अट्ठाइसवां संशोधन) विधेयक, 2023, लोकसभा में कार्य की अनुपूरक सूची में पेश किया गया था। महिला आरक्षण विधेयक में प्रस्तावित किया गया है कि आरक्षण 15 साल की अवधि तक जारी रहेगा और महिलाओं के लिए आरक्षित सीटों के भीतर एससी और एसटी के लिए कोटा होगा। सूत्रों ने कहा कि हालांकि इस कानून के 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले लागू होने की संभावना नहीं है।

उन्होंने कहा कि इसे परिसीमन प्रक्रिया समाप्त होने के बाद ही लागू किया जाएगा, संभवत: 2029 में। परिसीमन प्रक्रिया शुरू होने के बाद आरक्षण लागू होगा और 15 वर्षों तक जारी रहेगा। सरकार ने कहा कि महिलाएं पंचायतों और नगर निकायों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं, लेकिन राज्य विधानसभाओं, संसद में उनका प्रतिनिधित्व अभी भी सीमित है। इसमें कहा गया है कि महिलाएं अलग-अलग दृष्टिकोण लाती हैं और विधायी बहस और निर्णय लेने की गुणवत्ता को समृद्ध करती हैं। कांग्रेस ने इस बिल को भाजपा का चुनावी जुमला और देश की महिलाओं और लड़कियों के साथ फरेेब करार दिया है।

 

 

और भी

शालू जिन्दल इंटरनेशनल वुमन ऑफ द ईयर अवार्ड से सम्मानित

 रायपुर: जेएसपी फाउंडेशन की चेयरपर्सन श्रीमती शालू जिन्दल को शिकागो में इंटरनेशनल वुमन ऑफ द ईयर अवार्ड से सम्मानित किया गया है। उन्हें यह सम्मान भारतीय दूतावास के सहयोग से डी ट्राइबल्स फाउंडेशन द्वारा आयोजित स्वदेशी मेला “इंडियन अमेरिकन ट्रेड फेयर” में प्रदान किया गया। शालू जिन्दल को ओडिशा, छत्तीसगढ़ और झारखंड समेत देश भर में एक करोड़ से अधिक लोगों के जीवन में गुणात्मक बदलाव लाने के लिए यह सम्मान प्रदान किया गया है। शिकागो में भारतीय दूतावास के महावाणिज्य दूत सोमनाथ घोष इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे।


यह प्रतिष्ठित सम्मान प्राप्त करने के बाद शालू जिन्दल ने आभार व्यक्त किया और भारत में लोगों के उत्थान और उनके जीवन में गुणवत्ता लाने के लिए निरंतर प्रयासरत रहने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराई। उन्होंने कहा, “यह सम्मान प्राप्त कर मैं बहुत ही गर्वान्वित हूं। यह टीम जेएसपी फाउंडेशन के सामूहिक प्रयासों का प्रमाण है। हम अपने देश और दुनिया भर के वंचित एवं सामाजिक रूप से कमजोर लोगों के उत्थान और उनका भविष्य उज्ज्वल बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। यह सम्मान वंचितों के लिए निरंतर काम करने के हमारे संकल्प को मजबूत करता है।”

जेएसपी फाउंडेशन की चेयरपर्सन के रूप में शालू जिन्दल छत्तीसगढ़, ओडिशा, झारखंड और भारत के अन्य क्षेत्रों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, स्वास्थ्य, कौशल विकास, महिला सशक्तीकरण और सामाजिक उत्थान से जुड़े विभिन्न कार्यक्रमों में निरंतर सहयोग कर रही हैं। उनके सामाजिक प्रयासों से लाखों लोगों के जीवन में खुशहाली आई है, जो बड़ी संख्या में लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत बन गया है।
 
लोगों का जीवन गुणवत्तापूर्ण बनाने के अलावा शालू जिन्दल ने कुचिपुड़ी नृत्य के विकास में अभूतपूर्व योगदान दिया है। वे अंतरराष्ट्रीय स्तर की कुचिपुड़ी नृत्य विशेषज्ञ हैं और पूरी दुनिया में भारतीय नृत्य और संस्कृति के प्रचार-प्रसार में निरंतर योगदान कर रही हैं। वे राष्ट्रीय बाल भवन की चेयरपर्सन रही हैं। यंग फिक्की की संस्थापक चेयरपर्सन के रूप में भी उनका कार्यकाल उल्लेखनीय है। वर्तमान में वह रायगढ़ में स्थित ओपी जिन्दल विश्वविद्यालय की कुलाधिपति हैं। उन्हें सीएसआर टाइम्स लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड, लंदन में गोल्डन पीकॉक अवार्ड, महात्मा अवार्ड और सिंगापुर में सीएमओ एशिया से एकलव्य पुरस्कार सहित कई प्रतिष्ठित पुरस्कार मिले हैं।
और भी

महिला आरक्षण के लिए 'नारी शक्ति वंदन' बिल लोकसभा में पेश

नई दिल्ली: महिला आरक्षण बिल लोकसभा में पेश कर दिया गया है । केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने यह बिल पेश किया ।इस बिल को नारी शक्ति वंदन अधिनियम के नाम से पेश किया गया है।

कानून मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने जानकारी देते हुए बताया यह बिल महिला सशक्तिकरण के संबंध में है। संविधान के अनुच्छेद 239AA में संशोधन करके, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में महिलाओं के लिए 33% सीटें आरक्षित की जाएंगी।'' राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीटी) दिल्ली। अनुच्छेद 330ए लोक सभा में एससी/एसटी के लिए सीटों का आरक्षण है।

इस बिल के आने के बाद महिलाओं के लिए 33%सीटे आरक्षित की जाएगी । कानून बनने के बाद महिला सांसदों की संख्या 82 से बढ़कर 182 हो जाएगी। इस बिल की समय अवधि 15 साल होगी।

इससे पहले पीएम मोदी ने कहा था महिला आरक्षण बिल पर काफी चर्चा हुई हैं, बहुत वाद-विवाद भी हुए हैं। अटल बिहारी वाजपेई के शासनकाल में कई बार महिला आरक्षण बिल पेश किया गया लेकिन बिल को पारित कराने के लिए पर्याप्त बहुमत नहीं था और इस कारण यह सपना अधूरा रह गया। ईश्वर ने शायद ऐसे कई कामों के लिए मुझे चुना है। कल ही कैबिनेट में महिला आरक्षण बिल को मंजूरी दी गई है। आज महिलाएं हर क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रही हैं..हमारी सरकार आज दोनों सदनों में महिलाओं की भागीदारी पर एक नया बिल ला रही है।

और भी

संसद में 5 दिन का विशेष सत्र 18 से

दिल्ली: केंद्र सरकार द्वारा बुलाए गए पांच दिन के विशेष संसद सत्र की शुरुआत सोमवार से हो रही है।

आज पहले दिन सभी सांसद पुराने संसद भवन में बैठेंगे और इसके बाद मंगलवार 19 सितंबर को गणेश चतुर्थी के दिन से नए संसद भवन में दोनों सदनों की कार्यवाही शुरू होगी। विशेष सत्र से एक दिन पहले रविवार को केंद्र सरकार ने सर्वदलीय बैठक बुलाई और 5 दिन के सत्र में आने वाले बिलों पर सभी नेताओं से चर्चा की।

विपक्षी दलों ने उठाई महिला आरक्षण विधेयक की मांग
सर्वदलीय बैठक में विपक्षी दलों ने महिला आरक्षण विधेयक विशेष सत्र में लाने की मांग उठाई। कांग्रेस की ओर से अधीर रंजन चौधरी सहित सभी विपक्षी दलों के नेताओं ने सरकार से यह मांग रखी। उनका कहना था कि महिलाओं की भागीदारी बढ़ाना जरूरी है। उधर इसको लेकर संसदीय कार्यमंत्री प्रहलाद जोशी का बयान सामने आया है कि केंद्र सरकार उचित समय पर उचित निर्णय लेगी।

इन विधेयकों पर सदन में चर्चा
सर्वदलीय बैठक में केंद्र सरकार की ओर से सभी दलों के नेताओं को बताया गया कि विशेष सत्र के दौरान वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण के लिए और एससी-एसटी से संबंधित विधेयकों पर भी इस दौर चर्चा होगी। इसके साथ ही अधिवक्ता विधेयक, प्रेस और पुस्तक पंजीकरण विधेयक, डाकघर विधेयक और मुख्य निर्वाचन आयुक्त और अन्य निर्वाचन आयुक्तों की नियुक्ति व सेवा शर्त विधेयक पर संसद भवन में चर्चा होगी।

और भी

संसद भवन से विदाई लेना एक भावुक पल: पीएम मोदी

दिल्ली: संसद के पांच दिवसीय विशेष सत्र की शुरुआत सोमवार से  हो गई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने निचले सदन यानी लोकसभा को संबोधित करते हुए  75 साल की संसदीय यात्रा को याद किया। अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि भले ही 19 सितंबर से आगामी सत्र नए भवन में आयोजित किए जाएंगे, लेकिन पुराना संसदीय भवन लाखों भारतीयों को प्रेरणा देता रहेगा।

उन्होंने यह भी कहा कि नए परिसर में जाने से पहले इस संसद भवन से जुड़े प्रेरणादायक क्षणों को याद करने का समय आ गया है।

उन्होंने कहा, ‘हम इस संसद के निर्माण में लगे परिश्रम, कड़ी मेहनत और धन को कभी नहीं भूल सकते।’

लोकसभा में पीएम मोदी ने कहा, ‘…हम सभी इस ऐतिहासिक इमारत को अलविदा कह रहे हैं। आजादी से पहले यह सदन इंपीरियल लेजिस्लेटिव काउंसिल की जगह था। आजादी के बाद इसे संसद भवन की पहचान मिली। यह सच है कि इस इमारत के निर्माण का निर्णय विदेशी शासकों ने लिया था, लेकिन हम कभी नहीं भूल सकते और गर्व से कह सकते हैं कि इसके निर्माण में जो मेहनत, मेहनत और पैसा लगा, वह मेरे देशवासियों का था।’

उन्होंने कहा कि ये सदन से विदाई लेना एक भावुक पल है। उन्होंने कहा कि परिवार जब एक पुराना घर छोड़कर नए घर जाता है तो बहुत सारी यादें एक पल के लिए उसे झकझोर देती हैं। और हम जब इस सदन को छोड़कर जा रहे हैं तो हमारा मन-मस्तिष्क भी उन भावनाओं से भरा हुआ है। अनेक यादों से भरा हुआ है।

संबोधन के दौरान पीएम मोदी  ने संसदीय कार्यवाही की जिक्र किया और कहा कि इस संसद में कई तरह में कई तरह के अनुभव रहे हैं। नोक-झोंक से लेकर उत्साह औऱ उमंग की यादों को पीएम मोदी ने याद किया।

पीएम मोदी ने कहा- संसद के आतंकी हमले को कोई नहीं भूल सकता है

पीएम मोदी ने पुरानी बिल्डिंग में आज अंतिम कामकाज के दिन संबोधित करते हुए कहा, ‘ना जाने कितने ही अनगिनत लोग होंगे, जिन्होंने हम सब अच्छे तरीके से काम कर सकें, तेजी से काम कर सकें, उसके लिए जिस-जिस ने भी योगदान दिया, उन्हें मैं विशेष रूप से भी और इस सदन की तरफ से भी नमन करता हूं. आतंकी हमला हुआ, पूरे विश्व में ये हमला एक इमारत पर नहीं था, बल्कि एक प्रकार से हमारी जीवात्मा पर ये हमला था।’

उन्होंने कहा, ‘ये देश उस घटना को कभी नहीं भूल सकता है। लेकिन आतंकियों से लड़ते- लड़ते, सदस्यों को बचाने के लिए जिन्होंने अपने सीने पर गोलियां झेलीं आज मैं उनको भी नमन करता हूं।

पत्रकारों पर क्या बोले पीएम मोदी ?
प्रधानमंत्री मोदी ने संसद सत्र के संबोधन में उन पत्रकारों को भी याद किया जो कई दिनों से संसद में रिपोर्टिंग कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘ऐसे पत्रकार जिन्होंने संसद को कवर किया, शायद उनके नाम जाने नहीं जाते होंगे लेकिन उनको कोई भूल नहीं सकता है। सिर्फ खबरों के लिए ही नहीं, भारत की इस विकास यात्रा को संसद भवन से समझने के लिए उन्होंने अपनी शक्ति खपा दी।’ खबरों के लिए के लिए नहीं, बल्कि भारत की विकास यात्रा के लिए उन्होंने सबकुछ खपा दिया, उनको याद करने का समय है- जैसी ताकत यहां की दीवारों की रही है, वैसा ही दर्पण उनकी कलम में रहा है। कई पत्रकार बंधुओं के लिए भी ये सदन छोड़ना आज भावुक पल रहा होगा।’

पीएम मोदी ने महिला सांसदों के योगदान को सराहा
पीएम मोदी ने कहा, महिला सांसदों की संख्या पहले भले ही कम रही हो, लेकिन धीरे-धीरे उनका प्रतिनिधित्व, योगदान बढ़ रहा है। करीब-करीब 7,500 से अधिक जनप्रतिनिधि अबतक दोनों सदनों में अपना योगदान दे चुके हैं। उन्होंने कहा कि इस कालखंड में करीब 600 महिला सांसदों ने दोनों सदनों की गरिमा को बढ़ाया है।

और भी

बारामूला में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी ढेर

बारामूला: कश्मीर के बारामूला के उरी, हथलंगा इलाके में 3 आतंकियों के देखे जाने के बाद सेना और बारामूला पुलिस ने एनकाउंटर शुरू किया। कश्मीर पुलिस के मुताबिक शनिवार सुबह से चल रहे एनकाउंटर में 1 आतंकी मारा गया, जबकि बाकी आतंकियों की तलाश की जा रही है।


रिपोर्ट्स के मुताबिक, ये वही इलाका है जहां दिसंबर 2022 में सुरक्षा बलों ने एक बड़े आतंकी ठिकाने का भंडाफोड़ किया था। तब एक गुफा से हथियारों का जखीरा बरामद किया गया था।

हाल ही में कोकेरनाग मुठभेड़ के दौरान आतंकियों ने छिपने के लिए गुफा का सहारा लिया। 13 सितंबर को सर्च ऑपरेशन के दौरान हुई इस मुठभेड़ में सेना और पुलिस के 3 जवान शहीद हो गए।

कश्मीर में अनंतनाग के गडूल कोकेरनाग में पांचवे दिन भी आतंकियों से मुठभेड़ जारी रहेगी। वहीं, बुधवार 13 सितंबर को आतंकियों की गोली लगने से घायल जवान की भी मौत हो गई है।अंधेरा होने पर शुक्रवार (15 सितंबर) को ऑपरेशन रोक दिया गया था, जो सुबह होते ही फिर शुरू होगा।

राजौरी एनकाउंटर साइट से बरामद हुईं AK-47 और गोलियां
राजौरी में भी इसी हफ्ते मंगलवार को एनकाउंटर के दौरान एक जवान की मौत हो गई थी और दो आतंकी मारे गए थे। यहां सर्चिंग के दौरान एक आर्मी डॉग की भी मौत हो गई। उसने अपने हैंडलर की जान बचाने के लिए खुद की जिंदगी दांव पर लगा दी। राजौरी में एनकाउंटर खत्म हो गया है।

कश्मीर में इस साल अब तक 40 आतंकी ढेर
कश्मीर में पिछले तीन साल में यह सबसे बड़ा हमला है, जिसमें इतने बड़े अफसरों की शहादत हुई है। इससे पहले कश्मीर के हंदवाड़ा में 30 मार्च 2020 को 18 घंटे चले हमले में कर्नल, मेजर और सब-इंस्पेक्टर समेत पांच अफसर शहीद हुए थे। इस साल जनवरी से अब तक जम्मू-कश्मीर में 40 आतंकी मारे गए हैं। इनमें 8 ही स्थानीय थे और बाकी सभी विदेशी थे।

 

 

और भी

अनंतनाग में एक और जवान शहीद

सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी

जम्मू : जम्मू कश्मीर के अनंतनाग जिले में बुधवार से ही सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है।

इस एनकाउंटर में एक और जवान के शहीद होने की खबर सामने आई है। इसी के साथ शहीद होने वालों की संख्या बढ़कर 4 पहुंच गई है।

बता दें कि गुरुवार को सेना का यह जवान घायल हुआ था। अस्पताल में आज इलाज के दौरान सेना के जवान ने दम तोड़ दिया। इससे पहले बुधवार को हुए एनकाउंटर में सेना और जम्मू कश्मीर पुलिस के कुल 3 जवान शहीद हुए थे। शहीद होने वालों में 19 राष्ट्रीय राइफल्स के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल मनप्रीत सिंह, मेजर आशीष धोनैक और डीएसपी हुमायूं भट्ट हैं।  

पैतृक निवास लाया गया मेजर का पार्थिव शरीर
बुधवार को एनकाउंटर में शहीद हुए जवानों को पार्थिव शरीर को उनके पैतृक गांव भिजवाया जा रहा है, जहां उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। इस बीच शहीद मेजर आशीष धोनैक के पार्थिव शरीर को पानीपत स्थित उनके पैतृक गांव बिंझोल ले जाया गया है। बता दें कि मेजर धौनेक का परिवार पानीपत के सेक्टर 7 में रहता है, जबकि उनका पैतृक गांव बिंझोल है। वहीं शहीद कर्नल मनप्रीत सिंह के पार्थिव शरीर को भी पंजाब के मोहाली में स्थित भड़ौंजिया गांव ले जाया जाएगा। अब से कुछ ही देर बाद शहीद जवानों के अंतिम संस्कार की प्रक्रिया पूरी की जाएगी।

अनंतनाग में एनकाउंटर जारी
वहीं अनंतनाग में हुए एनकाउंटर में शहीद जम्मू कश्मीर पुलिस के डीएसपी हुमायूं भट्ट का अंतिम संस्कार गुरुवार को ही बडगाम जिले में किया गया था। बता दें कि इस एनकाउंटर में अबतक 4 जवान घायल हुए हैं। वहीं मुठभेड़ वाले इलाके में एक स्थानीय आतंकी उजैर खान और एक पाकिस्तानी आतंकी के होनों की जम्मू कश्मीर पुलिस ने पुष्टि की है। आशंका जताई जा रही है कि यह एनकाउंटर लंबा चलेगा और खबर यह भी है कि सुरक्षाबलों ने एक और आतंकी को मार गिराया है।

 

 

और भी

अनंतनाग मुठभेड़ : कर्नल, मेजर व डीएसपी शहीद

जम्मू : जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में बुधवार को आतंकवादियों के साथ लौहा लेते हुए तीन जवानों ने देश के लिए अपने प्राण न्यौछावर कर दिए। शहीद होने वालों जवानों में दो सेना के अधिकारी और एक जम्मू-कश्मीर पुलिस के अधिकारी हैं।  


भारतीय सेना के अधिकारी ने बताया कि अनंतनाग में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में सेना के कर्नल और मेजर, और जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीएसपी ने देश के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया है। अनंतनाग एनकाउंटर की जिम्मेदारी आतंकी संगठन टीआरएफ ने ली है।

कर्नल, मेजर और डीएसपी शहीद
उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर) यूनिट के कमांडिंग कर्नल मनप्रीत सिंह, आरआर के मेजर आशीष और जम्मू-कश्मीर पुलिस के उपाधीक्षक हुमायूं भट्ट गोलीबारी में गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इलाज के दौरान तीनों वीरगति को प्राप्त हुए।

 

अधिकारी ने बताया कि गडोले इलाके में आतंकियों के खिलाफ मंगलवार शाम को ऑपरेशन शुरू हुआ था, लेकिन रात में इसे बंद कर दिया गया। बुधवार सुबह आतंकवादियों की तलाश तब फिर से शुरू हुई जब सूचना मिली कि उन्हें एक ठिकाने पर देखा गया है।

तलाशी अभियान रहेगा जारी
कर्नल सिंह ने आगे से अपनी टीम का नेतृत्व करते हुए आतंकियों पर हमला बोल दिया। हालांकि, आतंकवादियों ने उन पर गोलीबारी कर दी। इलाके में मौजूद आतंकवादियों को ढेर करने के लिए विशेष बलों को तैनात किया गया है। बताया जा रहा है कि 3 से 4 आतंकी मौजूद हैं। यहां तलाशी अभियान रात भर जारी रहेगा।  

हरियाणा के रहने वाले थे मेजर आशीष
मेजर आशीष मूल रूप से हरियाणा के पानीपत के बिंझौल गांव के रहने वाले थे। फिलहाल उनका परिवार पानीपत के सेक्टर-7 में किराए के मकान में रहता है।  वहीं, हुमायूं भट्ट जम्मू-कश्मीर पुलिस के सेवानिवृत्त आईजी गुलाम हसन भट्ट के बेटे हैं।

महबूबा मुफ्ती ने दुख जताया
जवानों की शहादत पर जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने दुख जताया है. उन्होंने एक्स पर लिखा, "आज अनंतनाग में ड्यूटी के दौरान शहीद जवानों के परिवारों के प्रति मेरी गहरी संवेदना है। हिंसा के ऐसे घृणित कृत्यों के लिए कोई जगह नहीं है।"

"पाकिस्तान करा रहा घुसपैठ कराने की पूरी कोशिश"
सेना की उत्तरी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल उपेन्द्र द्विवेदी ने बुधवार को दिन में कहा था, "जम्मू-कश्मीर में आंतरिक सुरक्षा स्थितियों में हो रही प्रगति में बाधा डालने के लिए पाकिस्तान क्षेत्र में विदेशी आतंकवादियों की घुसपैठ कराने की पूरी कोशिश कर रहा है।"

जनरल वीके सिंह ने शोक व्यक्त किया
केंद्रीय मंत्री और पूर्व सेनाध्यक्ष जनरल वीके सिंह ने तीन जवानों के शहीद होने पर दुख जताते हुए कहा, "सेना मेडल से सम्मानित कर्नल मनप्रीत सिंह कश्मीर के अनंतनाग में आतंकवादियों से लड़ते हुए वीरगति को प्राप्त हो गए। इस दुखद खबर से देश स्तब्ध है। शहीद कर्नल मनप्रीत सिंह की शहादत को नमन करते हुए ईश्वर से उनके परिजनों को इस कठिन समय में सम्बल प्रदान करने की प्रार्थना करता हूं।"

"आतंकवाद के खिलाफ भारत एकजुट"
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने एक्स पर लिखा, "हमारे बहादुर सेना के जवानों और एक डीएसपी ने जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में मुठभेड़ में आतंकवादियों से लड़ते हुए सर्वोच्च बलिदान दिया है। हम इस नुकसान से बेहद दुखी हैं। हमारे बहादुरों के परिवारों के प्रति हमारी गहरी संवेदनाएं। आतंकवाद के खिलाफ भारत एकजुट है।"

जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने एक्स पर लिखा, "बेहद भयानक खबर आ रही है। दक्षिण कश्मीर के कोकेरनाग इलाके में एक मुठभेड़ में सेना के एक कर्नल, एक मेजर और एक जम्मू-कश्मीर पुलिस डीवाईएसपी ने अपना सर्वोच्च बलिदान दिया। आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में डीएसपी हुमायूं भट्ट, मेजर आशीष और कर्नल मनप्रीत सिंह ने अपनी जान गंवा दी। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे और उनके प्रियजनों को इस कठिन समय में शक्ति प्रदान करे।"

 

 

और भी

पॉवर हाउस के रुप में छत्‍तीसगढ़ की ताकत बढ़ रही है : नरेंद्र मोदी

पीएम मोदी ने रायगढ़ में 6 हजार करोड़ की रेलवे परियोजनाओं का लोकार्पण किया

रायगढ़: प्रधानमंत्री मोदी गुरुवार को रायगढ़ पहुंचे। सरकारी कार्यक्रम के मंच से प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज छत्‍तीसगढ़ विकास की दिशा में एक और बड़ा कदम उठा रहा है। आज छत्‍तीसगढ़ को 6 हजार करोड़ से अधिक की रेल परियोजनाओं का उपहार मिल रहा है। आज यहां सिलसेल कॉउंसिलिंग कार्ड भी बांटे गए हैं।

आमसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आप सभी ने देखा है कुछ दिन पहले जी-20 सम्‍मेलन में बड़े-बड़े देशों के राष्‍ट्राध्‍यक्ष भारत आए थे, सभी भारत के गरीब कल्‍याण के कामों से प्रभावित हो कर गए हैं। बड़े-बड़े देश भारत से सीखने की बात कर रहे हैं। हमें मिलकर देश को आगे बढ़ाना है। छत्‍तीसगढ़ और रायगढ़ का यह इलाका भी इसका गवाह है। मेरे परिवारजनों छत्‍तीसगढ़ हमारे के लिए देश के पॉवर हाउस की तरह है। देश को ऊर्जा तभी मिलेगी जब पॉवर हाउस पूरी क्षमता के साथ काम करेगा। आज छत्‍तीसगढ़ के रेल नेटवर्क का नया इतिहास लिखा जा रहा है। जो अन्‍य रेला लाइनें बन रही है उससे प्रदेश का औद्योगिक विकास होगा। इससे रोजगार के नए-नए अवसर पैदा होगा।



उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के प्रयासों से देश के पॉवर हाउस के रुप में छत्‍तीसगढ़ की पॉवर कई गुना बढ़ती जा रही है। कम से कम मूल्‍य पर कोयला उत्‍पादन करने का प्रयास किया जा रहा है। इससे बिजली की दरें कम हो। आने वाले समय में देश में ऐसे प्रोजेक्‍ट की संख्‍या और बढ़ेगा। देश को विकसित बनाना है। यह काम तभी पूरा होगा जब विका समें देश के हर नागरिक की भागीादरी होगी। विकास के साथ पर्यावरण की भी चिंता करना है। सूरजपुर के कोयला खदान को इको टूरिज्‍म के रुप में विकसित किया जा रहा है। कोरबा में भी इसी तरह का प्रयास किया जा रहा है।

और भी

महिला कृषक को मिला पादप जीनोम संरक्षक किसान सम्मान

भोपाल: राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने मध्य प्रदेश के डिंडोरी की कृषक लहरी बाई को श्रीअन्न प्रजातियों के संरक्षण और संवर्धन के लिए वर्ष 2021-22 का पादप जीनोम संरक्षक किसान सम्मान प्रदान किया। लहरी बाई को कृषक अधिकार वैश्विक संगोष्ठी के अलंकरण समारोह में सम्मान स्वरूप 1,50,000 रुपये की नकद राशि, प्रशस्ति पत्र और स्मृति चिन्ह  प्रदाय किया गया।

कार्यक्रम का आयोजन नई दिल्ली के सी. सुब्रामण्यम ऑडिटोरियम में हुआ। इसमें केंद्रीय कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर उपस्थित थे।

डिंडोरी जिले की बजाग तहसील निवासी लहरी बाई ने बैगा समुदाय की सहायता से कोदो, कुटकी, सांवा, काग, सिकिया, मडुआ जैसे दुर्लभ श्रीअन्न प्रजातियों का सीड बैंक विकसित किया है। दिल्ली में 12 से 15 सितंबर, 2023 तक चलने वाली वैश्विक संगोष्ठी में लहरी बाई ने अपने सीड बैंक की प्रदर्शनी भी लगाई है।

किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल ने लहरी बाई की अभूतपूर्व उपलब्धि पर बधाई दी है। उन्होंने कहा कि मिलेट्स संरक्षण के लिए लहरीबाई द्वारा अदभुत कार्य किया गया है। उनके कार्य की सराहना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी प्रसिद्ध रेडियो प्रोग्राम मन की बात में कर चुके हैं। लहरी बाई ने सम्पूर्ण मध्यप्रदेश को गौरवान्वित किया है।

और भी

बारिश से प्रभावित इलाकों का दौरा करने के लिए प्रियंका गांधी पहुंचीं हिमाचल

शिमला: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा मंगलवार को बारिश से प्रभावित राज्य के एक दिवसीय दौरे के लिए हिमाचल प्रदेश पहुंचीं, जहां मानसून की शुरुआत के बाद से 400 से अधिक मौतें दर्ज की गईं। मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू के साथ, प्रियंका राज्य के सबसे अधिक प्रभावित जिलों कुल्लू और मंडी के दौरे के लिए कुल्लू के लिए रवाना हुईं। बाद में दिन में वह सोलन जिले का दौरा करेंगी।

यात्रा के दौरान प्रियंका के साथ पार्टी प्रभारी राजीव शुक्ला और प्रदेश पार्टी अध्यक्ष प्रतिभा सिंह भी हैं। इससे पहले, चंडीगढ़ हवाई अड्डे पर पहुंचने पर मुख्यमंत्री ने उनका स्वागत किया। मुख्यमंत्री कार्यालय के अनुसार, वह मनाली, कुल्लू और पंडोह क्षेत्रों का दौरा करेंगी जहां वह बाढ़ और भूस्खलन के कारण पीड़ित परिवारों से बातचीत करेंगी। उनके 13 अक्टूबर को शिमला के बारिश प्रभावित इलाकों का दौरा करने की संभावना है।

मुख्यमंत्री सुक्खू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से राज्य में बारिश से हुई आपदा को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने और विशेष राहत पैकेज की मांग की है। सुक्खू ने शनिवार को नई दिल्ली में जी20 शिखर सम्मेलन के अवसर पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू द्वारा आयोजित रात्रिभोज में प्रधान मंत्री से मुलाकात की थी और उन्हें जुलाई और अगस्त में भारी बारिश के कारण बुनियादी ढांचे को हुए गंभीर नुकसान और जानमाल के नुकसान से अवगत कराया था।

उन्होंने प्रधानमंत्री को बताया कि आपदा के कारण 400 से अधिक लोगों की जान चली गई और 13 हजार से अधिक घर क्षतिग्रस्त हो गए, इससे हजारों परिवार बेघर हो गए। सुक्खू ने मोदी को बताया कि आपदा के परिणामस्वरूप राज्य को 12,000 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है।

 
और भी

भारत में सऊदी निवेश के पर्याप्त अवसर : मुर्मु

नई दिल्ली: राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने सऊदी अरब को भारत के महत्वपूर्ण रणनीतिक साझेदारों में से एक बताते हुए कहा है कि देश में अलग-अलग क्षेत्रों में सऊदी निवेश के पर्याप्त अवसर हैं। श्रीमती मुर्मु ने सोमवार को राष्ट्रपति भवन में सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान बिन अब्दुलअज़ीज़ अल सऊद का स्वागत किया। उन्होंने उनके सम्मान में रात्रि भोज का भी आयोजन किया।

राष्ट्रपति भवन में युवराज का स्वागत करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि सऊदी अरब भारत के सबसे महत्वपूर्ण रणनीतिक साझेदारों में से एक है। यह खुशी की बात है कि पिछले कुछ वर्षों में भारत और सऊदी अरब के बीच द्विपक्षीय संबंध काफी मजबूत हुए हैं। राष्ट्रपति ने कहा कि साझा सांस्कृतिक अनुभव, आर्थिक तालमेल और शांतिपूर्ण तथा विश्व में सिथरता के प्रति साझा प्रतिबद्धता भारत और सऊदी अरब को स्वाभाविक भागीदार बनाती है। श्रीमती मुर्मु ने कहा कि भारत-सऊदी अरब साझेदारी हाल के वर्षों में आर्थिक क्षेत्र में भी मजबूत हुई है।

उन्होंने कहा कि भारत में कई अलग-अलग क्षेत्रों में सऊदी निवेश बढ़ाने के पर्याप्त अवसर हैं। राष्ट्रपति ने दुनिया में शांति और स्थिरता के लिए सकारात्मक शक्ति के रूप में सऊदी अरब की भूमिका की सराहना की। उन्होंने विश्वास जताया कि युवराज की इस यात्रा और जी 20 शिखर सम्मेलन में उनकी भागीदारी से भारत और सऊदी अरब के बीच बहुमुखी साझेदारी और मजबूत होगी।

 

 

और भी

विश्व बैंक के प्रमुख अजय बंगा ने की सीतारमण से भेंट

नई दिल्ली: विश्व बैंक के प्रमुख अजय बंगा ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से रविवार को यहां भेंट की और जी 20 अध्यक्षता को रचनात्मक और सफल अध्यक्षता के लिए बधाई दी। श्री बंगा जी 20 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए भारत आए हुए हैं। दोनों ने जी 20 की भारत की अध्यक्षता और विश्व बैंक समूह के विकास के परिणामों पर चर्चा की।

विश्व बैंक और अन्य मुद्दों के अलावा विकासात्मक परियोजनाओं के लिए ज्ञान के आदान-प्रदान और वित्तीय सहायता के माध्यम से भारत के साथ श्री बंगा का जुड़ाव है। वित्त मंत्री ने कहा कि विश्व बैंक प्रमुख बहुस्तरीय विकास बैंकों (एमडीबी) को मजबूत करने पर स्वतंत्र विशेषज्ञ समूह के खंड-1 रिपोर्ट में शामिल ट्रिपल एजेंडे पर सिफारिशों को आगे बढ़ाने की पूरी उम्मीद है।

श्रीमती सीतारमण ने कहा कि वे रिपोर्ट के खंड 2 की प्रतीक्षा कर रहे हैं जो अक्टूबर में मोरक्को में चौथे वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक गवर्नरों की बैठक के दौरान प्रस्तुत की जाएगी। बैठक के दौरान श्री बंगा ने वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामलों के विभाग के साथ मिलकर काम करने पर सहमति जतायी।

और भी

एसपीजी चीफ का देहांत

दिल्ली: स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) चीफ अरुण कुमार सिन्हा का निधन हो गया। एसपीजी प्रमुख अरुण कुमार ने दिल्ली में अंतिम सांस ली।

बता दें कि सिन्हा 1987 केरल कैडर के आईपीएस अधिकारी रहे थे और 2016 से  एसपीजी निदेशक के तौर पर काम कर रहे थे।उनकी सेवा को और सरहानीय कामों को देखते हुए कई पदकों और पुरस्कार मिले थे।

अरुण सिन्हा करीब एक साल से कैंसर से लड़ रहे थे। 4 सितंबर को अचानक उन्हें लीवर में दिक्कत हुई तो दिल्ली के मेदांता अस्पताल में भर्ती किया गया। बुधवार को 61 साल की उम्र में उन्होंने आखिरी सांस ली, वो 2016 से एसपीजी निदेशक के तौर पर काम कर रहे थे। उन पर प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा की जिम्मेदारी थी।

आईपीएस अरुण कुमार सिन्हा ने अपनी पढ़ाई झारखंड से की थी. अपने करियर में वे कई बड़े पदों पर रहे हैं. सिन्हा ने केरल में ही विभिन्न पदों और रैंक पर काम किया।

उन्होंने केरल पुलिस के डीसीपी कमिश्नर, इंटेलिजेंस आईजी और तिरुवनंतपुरम आईजी के पद पर काम किया. हाल ही में केंद्र सरकार की ओर से उन्हें अपने पद पर एक्टेंशन भी मिला था।

और भी

पीएम मोदी के इंडोनेशिया दौरे के कार्ड पर लिखा भारत, कांग्रेस ने कही ये बात...

 दिल्ली: भारत या इंडिया मुद्दे पर मचे राजनीतिक घमासान के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आसियान शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए इंडोनेशिया जा रहे हैं।


पीएम मोदी के इंडोनेशिया पहुंचने से पहले बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने उनकी इंडोनेशिया यात्रा की जानकारी देने वाला नोट सोशल मीडिया में शेयर किया है। इस नोट में 'द प्राइम मिनिस्टर ऑफ भारत' लिखा गया है यानि कि अब ये मामला देश के अंदर होने वाली बहस का ही नहीं रहा बल्कि सरकार ने ग्लोबल तौर पर भारत नाम का इस्तेमाल शुरू कर दिया है।

इसके साथ ही बड़ी खबर ये भी है कि जी-20 समिट के दौरान सभी भारतीय डेलिगेट्स और नौकरशाहों के आईडेंटिडी कार्ड्स बदल दिए गए हैं। इन कार्ड्स पर इंडिया की जगह भारत लिख दिया गया है। G20 इवेंट के निमंत्रण पत्र के साथ-साथ आइडेंटिटी कार्ड्स पर भी Indian official की जगह Bharat Official यानी भारत के अधिकारी लिखा हुआ है। सरकार ने इतनी तेज़ी से काम किया है कि विपक्ष हैरान हो गया है।

किन-किन दस्तावेजों में इंडिया की जगह लिखा भारत?
आसियान देशों के शिखर सम्मेलन के नोट में साफ-साफ लिखा है द प्राइम मिनिस्टर ऑफ भारत श्री नरेन्द्र मोदी। ये नोट बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने शेयर किया है।

वैसे ये पहला सरकारी दस्तावेज़ नहीं है जिसमें इंडिया की जगह भारत लिखा गया है। ऐसे दस्तावेज़ों के सामने आने का सिलसिला मंगलवार से शुरू हुआ जो अब जारी रहने वाला है।
राष्ट्रपति की तरफ से जी-20 के मौके पर डिनर के न्योते में प्रेजिडेंट ऑफ भारत लिखा गया।
जी-20 सम्मेलन में इंडिया के साथ-साथ भारत लिखा गया।
पहचान पत्रों पर भारत लिखा गया।
25 अगस्त को मोदी अफ्रीका में थे वहां भी भारत लिखा गया।
अब आसियान में शामिल हो रहे हैं तो वहां भी भारत लिखा गया है।

यानी अब जो कुछ भी सरकारी प्रेस में छप रहा है उस पर या तो केवल भारत लिखा है या फिर इंडिया के साथ भारत भी लिखा है। इन्हीं तस्वीरों ने विपक्षी गठबंधन को बेचैन करने के साथ साथ कुछ सवाल भी खड़े कर दिए हैं। बड़ा सवाल क्या संसद के विशेष सत्र में मोदी सरकार भारत करने का प्रस्ताव ला सकती है? क्या अनुच्छेद 368 में एक संवैधानिक संशोधन करके इंडिया का नाम भारत करने की तैयारी चल रही है। राजनीतिक गलियारों में इसकी चर्चा शुरू हो चुकी है। खासतौर पर राष्ट्रपति भवन से जारी इन निमंत्रण पत्रों के सामने आने के बाद। इन्हीं तैयारियों ने विपक्ष को हैरान कर दिया है।

कांग्रेस की स्पेलिंग मिस्टेक, BJP ने कोसा तो सुधारा
कांग्रेस इतनी आग बबूला है कि उसने विरोध की जल्दबाजी में ब्लंडर कर दिया। संविधान के डमी पेज पर लिखा इंडिया को हटाना नामुमकिन लेकिन इसमें स्पेलिंग मिस्टेक कर दी। कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से संविधान की प्रस्तावना लिखा जो डमी नोट जारी हुआ उसमें कई जगहों पर स्पेलिंग की मिस्टेक थी। कांग्रेस की इस गलती को बीजेपी के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शर्मनाक बताया तो कांग्रेस ने इसे टाइपिंग की गलती बताकर फौरन हटा दिया और उसकी जगह नया डमी नोट जारी कर दिया लेकिन तब तक सोशल मीडिया पर कांग्रेस की काफी किरकिरी हो चुकी थी।
और भी
Previous123456789...9697Next